Home देश Acid Attack Victims Reservation : तेजाब हमले से पीड़ित लोगों को मिलेगा...

Acid Attack Victims Reservation : तेजाब हमले से पीड़ित लोगों को मिलेगा सरकारी नौकरी में 1 प्रतिशत आरक्षण

SHARE
Acid Attack Victims Reservation
demo pic

Acid Attack Victims Reservation : चार श्रेणियों में बंटा आरक्षण प्रतिशत

Acid Attack Victims Reservation : तेजाब हमले के पीड़ितो के लिए सरकार की तरफ से एक खुशखबरी आई है.

दरअसल सरकार ने अब तेजाब हमले के शिकार लोगों को भी दिव्यांग श्रेणी के अंतर्गत सरकारी नौकरी में मिलने वाले आरक्षण का हकदार माना है. इसके तहत अब मुख्य रूप से तेजाब हमले के पीड़ितों को सरकारी नौकरी के विभिन्न श्रेणियों में 1 प्रतिशत का कोटा दिया जाएगा.
इस बारे में केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय की तरफ से दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं. इसी के साथ अब सरकारी नौकरियों में मिलने वाले दिव्यांगों की आरक्षण सीमा 4 प्रतिशत से बढ़कर 5 प्रतिशत हो गई है.
यह भी पढ़ें – Hawk Eye App : हैदराबाद पुलिस ने महिलाओं को सुरक्षित यात्रा कराने के लिए ऐप में जोड़ा ‘ट्रैक मी’ फीचर
चार श्रेणियों में बंटा आरक्षण प्रतिशत
बता दें कि पिछले साल पारित हुए दिव्यांगो के अधिकार अधिनियम 2016 के अनुसार दिव्यांगो के बीच आरक्षण के बंटवारे को लेकर 4 श्रेणियां बनाई गई थी जिसमें हर श्रेणी के दिव्यांग उम्मीदवार के लिए 1 प्रतिशत का सरकारी नौकरी में आरक्षण रखा गया था.
पहली श्रेणी में जहां नेत्रहीन एवं कमजोर दृष्टि विकार वाले लोग है तो दूसरी श्रेणी में बहरे और कम सुन पाने वालों को रखा गया है
जबकि तीसरी श्रेणी में शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को शामिल किया गया है जिसमें अब तेजाब हमले के शिकार लोग, ठीक हो चुके कुष्ठ रोगी, सेरेब्रल पाल्सी के शिकार, क्षतिग्रस्त मांसपेसियों से ग्रस्त को भी जोड़ दिया गया है.
 कार्मिक मंत्रालय के द्वारा तैयार की गई चौथी श्रेणी में मल्टीपल डिसेबिलिटी को शामिल किया गया है. इसमें औटिज्म, बौद्धिक दिव्यांगता, स्पेसिफिक लर्निग डिसेबिलिटी, मानसिक बीमारी, हिमोफीलिया, थैलीसीमिया, सिकिल सेल रोग, पार्किंसन, स्पीच एंड लेंग्वेज डिसेबिलिटी आदि को शामिल किया गया है.
यह भी पढ़ें – Acid Attack Survivor: 26 वर्षीय रिया शर्मा को मिला ग्लोबल गोल्स अवार्ड 2017
खाली पड़े पदों पर कोई और नहीं कर सकेगा दावा
कार्मिक मंत्रालय ने यह स्पष्ट कर दिया है कि दिव्यागों के लिए आरश्रित नौकरी प्रतिशत के तहत खाली पड़े पदों को सामान्य या किसी अन्य श्रेणी के उम्मीदवारों के द्वारा नहीं भरा जाएगा .
अगर किसी वजह से भर्ती प्रक्रिया के दौरान इस प्रक्रिया के दिव्यांग नहीं मिलते हैं तब भी इन पदों पर भर्ती नहीं की जाएगी तथा इन्हें खाली माना जाएगा और फिर अगली बार प्रक्रिया में इसे भरा जाएगा.