Home देश फ्री इंटरनेट देने के मामले में भारत के रेलवे स्टेशन लंदन से...

फ्री इंटरनेट देने के मामले में भारत के रेलवे स्टेशन लंदन से भी बेहतर

SHARE
demo pic
demo pic
इंटरनेट की दुनिया से हर भारतीय के लिए एक गर्व करने वाली खबर सामने आई है. हमारे देश में रेलवे स्टेशनों पर मिलने वाली फ्री वाई फाई की सुविधा लंदन और सैन फ्रांसिस्कों के स्टेशनों से भी बेहतर है.
गूगल इंडिया के कनेक्टिविटी हेड गुलजार आंनद ने निजी समाचार वेबसाइट को दिए अपने इंटरव्यू में ये जानकारी दी. उन्होंने कहा कि इंटरनेट के कैपेसिटी और कवरेज के लिहाज से भारत के रेलवे स्टेशन लंदन और सैन फ्रांसिस्को के स्टेशनों से ज्यादा बेहतर है.
गौरतलब है कि रेलवे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत गूगल से रेलवे स्टेशनों पर फ्री वाई फाई देने के लिए करार किया है. ये सुविधा अभी केवल A1 और A क्लास स्टेशनों पर ही शुरू हो सकी है.
जनवरी 2016 में शुरू हुए इस कार्यक्रम के तहत अबतक करीब 140 स्टेशनों पर फ्री वाईफाई सुविधा दी जा रही है. जबकि 2018 तक इनकी संख्या 400 तक पहुंचाने का लक्ष्य है.
इस कार्यक्रम के तहत भारतीय रेल की सहायक कंपनी रेलटेल फाइबर नेटवर्क के जरिए स्टेशनों पर हाई स्पीड इंटरनेट मुहैया कराती है. जबकि गूगल कंपनी इसके लिए वायरलेस इंफ्रास्ट्रक्चर और टेक्निकल सपोर्ट मुहैया कराती है.
इस योजना के तहत लगभग 65 लाख यात्री हर महीने रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई की सेवा का लाभ उठा रहे हैं.
इन यात्रियों को शुरुआती 30 मिनट के लिए 20-30 एमबीपीएस स्पीड के साथ इंटरनेट मुहैया कराया जाता है. जबकि 30 मिनट के बाद इंटरनेट की स्पीड कम हो जाती है.
क्नेक्टिविटी हेड गुलजार आनंद ने बताया कि रिलायंस की फ्री फोर जी की घोषणा की थी तो रेलवे की इस सुविधा को हर महीने करीब 50 लाख यात्री इस्तेमाल कर रहे थे . जो अब बढ़कर 65 लाख तक पहुंच गई है. इसका मतलब कि रेलवे स्टेशनों पर जियो की सुविधा का कुछ खास प्रभाव नही पड़ा है.