Home देश नोटबंदी और जीएसटी के दंश से उभर रही भारतीय अर्थव्यवस्था –...

नोटबंदी और जीएसटी के दंश से उभर रही भारतीय अर्थव्यवस्था – आईएमएफ

SHARE
IMF On Indian Note Ban
demo pic

IMF On Indian Note Ban : शिक्षा और स्वास्थ्य में सुधार की दी सलाह

IMF On Indian Note Ban : नोटबंदी और जीएसटी पर लगातार आलोचना झेल रही मोदी सरकार के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष(आईएमएफ) की तरफ से अच्छी खबर आई है.

दरअसल आईएमएफ ने ये माना है कि भारत नोटबंदी और जीएसटी के लागू होने के बाद से बाजार में फैले असंतोष से बाहर आ रहा है. साथ ही आने वाले समय में हालाल और सुधरेंगे वहीं अह इसका सकारात्मक प्रभाव भी देश की जनता को समझ आने लगेगा.
यह भी पढ़ें – RBI Helpline : बैंक ग्राहकों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए जारी हुआ ये हेल्पलाइन नंबर
शिक्षा और स्वास्थ्य में सुधार की जरूरत
आईएमएफ के उप- प्रबंध निदेशक ताओ झांग ने पीटीआई को दिए अपने इंटरव्यूह में कहा कि जीएसटी और नोटबंदी के बाद से जिस तरह भारत के बाजार में गिरावट देखने को मिली थी अब वो धीरे- धीरे फिर से चढ़ने लगी है.
उन्होंने कहा कि हाल के ताजा तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर 7.2 प्रतिशत रही है जिससे यह साबित होता है कि भारत ने सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था का दर्जा एक बार फिर हासिल कर लिया है.
यही नहीं ताओ ने भारत को शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे क्षेत्रों में तेजी से सुधार पर ध्यान देने का सुझाव भी दिया. साथ ही उन्होंने बैंकिंग और फाइनेंशियल सिस्टम पर भी विशेष ध्यान देनी की बात कही ताकि भारत की अर्थव्यवस्था और तेजी से आगे बढ़ सके.
उन्होंने कहा कि अगर भारत ऐसा करने में सफल होता है तो वो जल्द ही अमीर देशों की तरह उनका आमदनी का स्तर हासिल कर सकेगा.
यह भी पढ़ें – 83 प्रतिशत भारतीय दूसरे की नौकरी छोड़ अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं
जीएसटी और नोटबंदी एक अच्छी पहल
झांग ने जीएसटी को एक अहम कदम बताते हुए कहा कि इसके लागू होने के बाद देश में वस्तुओं और सेवाओं की आवाजाही की दक्षता बढ़ेगी और एक राष्ट्रीय बाजार बनेगा.
साथ ही टैक्स कलेक्शन में भी तेजी आएगी और जीडीपी की वृद्धि दर भी बढ़ेगी.
वहीं नोटंबदी के विषय पर उन्होंने कहा कि भारत में पिछले कई दशकों से कैश का इस्तेमाल होता रहा है,ऐसे में अचानक से नोटबंदी लागू करने के बाद अस्थाई रुप से इसका असर देश की जनता और बाजार पर पड़ना स्वाभिक था.