Home देश साल 2017 में 7000 भारतीय अमीरों ने किया विदेशों में पलायन –...

साल 2017 में 7000 भारतीय अमीरों ने किया विदेशों में पलायन – रिपोर्ट

SHARE
Indian Millionaires Migration
demo pic

Indian Millionaires Migration : पिछले दो सालों में तेजी से बढ़ी संख्या

Indian Millionaires Migration : एक तरफ तो भारत में पिछले साल अम्बानी, अडानी और बिरला जैसे धनकुबेरों की आमदनी में जबरदस्त इजाफा देखन को मिला वहीं दूसरी तरफ देश के अमीरो का विदेशों में हमेशा के लिए जा बसने का रूझान तेजी से बढ़ा है.

हाल में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में पिछले साल अमीरों के विदेशों में पलायन करने के मामले में 16 प्रतिशत की वृद्धी देखने को मिली है.
यानि की साल 2017 में लगभग 7000 पूंजीपतियों ने अपना स्थाई पता भारत से बदलकर अन्य देशों को बना लिया है. बता दें कि अमीरों के दूसरे देश में जाकर बसने वालों की संख्या में भारत सिर्फ चीन से ही पीछे है.
यह भी पढ़ें – Adani NetWorth : साल 2017 में अडानी की संपत्ति में हुआ 125 फीसदी का इजाफा, अंबानी-बिड़ला को छोड़ा पीछे
दो वर्ष में तेजी से बढ़ी संख्या
अंतराष्ट्रीय संस्था न्यू वर्ल्ड वेल्थ की रिपोर्ट के अनुसार 7000 करोड़पतियों ने साल 2017 में अपना निवास स्थान किसी और देश को बना लिया. जबकि साल 2016 में ऐसा करने वालों की संख्या 6000 थी और साल 2015 में 4000 लोग दूसरे देश पलायन कर गए.
चीन का पहला स्थान
अगर वैश्विक स्तर पर देखा जाए तो इस मामले में 10,000 चीनी करोड़पतियों ने अपना डोमेसाइल बदलकर दूसरे देश का नागरिक बनना ज्यादा बेहतर समझा.
वहीं अन्य देशों के अमीरों का अपने देश से दूसरे देश में बस जाने की संख्या में तुर्की के 6,000, ब्रिटेन के 4,000, फ्रांस के 4,000 और रुस के 3,000 करोड़पतियों ने दूसरे देश में जाने का फैसला किया.
यह भी पढ़ें – Oxfam Report 2018 : देश की 73 फीसदी संपदा पर 1 फीसदी अमीरों ने जमाया कब्जा, 1 साल में 20.9 लाख करोड़ की बढ़ोतरी
भारतीय करोड़पतियों की पसंद बने ये देश
रिपोर्ट के मुताबिक भारत को छोड़कर ज्यादातर करोड़पति अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड गए हैं जबकि चीनी करोड़पतियों का रुख अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया की ओर है.
हालांकि इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत और चीन के लिए देश के बाहर बसने वाले करोड़पतियों की संख्या में इजाफा कोई चिंता का विषय नही है.
क्योंकि जितने लोग यहां से पलायन कर अन्य देशों में गए हैं उससे दोगूनी संख्या में यहां नए लोग करोड़पति और अरबपति बने हैं.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitterInstagram, and Google Plus