Home देश ISRO की इस 56 साल की महिला ने बनाया अंटार्कटिका में 403...

ISRO की इस 56 साल की महिला ने बनाया अंटार्कटिका में 403 दिन बिताने का इतिहास

SHARE
ISRO Scientist Mangla Mani
मंगला मणि

ISRO Scientist Mangla Mani : मंगला अंटार्कटिका में 1 साल से ज्यादा रहने वाली इसरो की बनी पहली महिला वैज्ञानिक 

ISRO Scientist Mangla Mani : ISRO की 23 सदस्यीय टीम की एक 56 वर्षीय महिला वैज्ञानिक ने अंटार्कटिका में एक साल रहकर इतिहास रच दिया है.

बता दें कि भारतीय मूल की मंगला मणि ने दुनिया के सबसे ठंडे स्थान में 403 दिन बिताकर सही सलामत वापस अपने मुल्क लौट आई हैं.
मंगला इसरो की जांच टीम की पहली महिला थी जो नवंबर 2016 में अंटार्कटिका स्थित भारत के रिसर्च स्टेशन भारती गई थीं.
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मंगला पिछले दिसंबर ही अंटाकर्टिका से अपना मिशन पूरा करके वापस लौटी हैं.
मंगला ने मीडिया में इंटरव्यू देते हुए कहा कि अंटार्कटिका का मिशन उनके लिए काफी मुश्किल भरा रहा क्योंकि वहां का मौसम बहुत सर्दी भरा था.
यह भी पढ़ें – बिहार की बेटी ने ITBP फोर्स में पहली महिला अफसर बनकर रचा इतिहास
साथ ही मंगला ने बताया कि उनकी टीम अपने रिसर्च स्टेशन के बाहर निकलते समय बहुत सतर्क रहती थी. बता दें कि मिशन के दौरान टीम द्वारा रिसर्च स्टेशन पर मंगला का जन्मदिन भी मनाया गया था.
मंगला ने इस मिशन के लिए चुने जाने की बात बताते हुए कहा कि कई हफ्तों तक उन्हें मुश्किल शारीरिक और मानसिक जांच से गुजरना पड़ा था, दरअसल यह जांच शरीर को अंटार्कटिका की भीषण सर्दी के लिए तैयार करने के लिए किए गए थे.
अंटार्कटिका का अनुभव बताते हुए मंगला ने कहा कि वहां गर्मी के मौसम में पानी के जहाज टीम के लिए पूरे साल का राशन एक बार में दे जाते थे क्योंकि अधिक सर्दी होने के चलते यह इलाका दुनिया से कट जाता है.
आपको बता दें कि मंगला और उनकी टीम का अंटार्कटिका मिशन भारत के रिसर्च स्टेशन पर ध्रुवीय कक्षा में घूम रहे सैटलाइट्स की जांच कर डाटा लेने का था.जिसके अंतर्गत अंटार्कटिका से लिया गया यह डाटा हैदराबाद सेंटर भेजा जाता था.