Home देश Madras High Court : महिला जजों की संख्या के मामले में मद्रास...

Madras High Court : महिला जजों की संख्या के मामले में मद्रास हाईकोर्ट बना अव्वल

SHARE
Madras high court
मद्रास हाई कोर्ट

Madras High Court : 125 साल में पहली बार बना संयोग

Madras High Court : देश में सबसे ज्यादा महिला न्यायधिशों की नियुक्ति करने के मामले में मद्रास हाइकोर्ट भारत का पहला न्यायालय बन गया है.

शुक्रवार को 4 नई महिला ऑडिशनल जजों को शामिल करने के बाद पूरे देशभर में सबसे ज्यादा महिला जजों की संख्या मद्रास हाईकोर्ट में हो गई है.
125 साल में पहली बार बना संयोग
मद्रास हाई कोर्ट के 125 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब वहां महिला जजों की संख्या 11 हो गई है, जिनमें चीफ जस्टिस इंदिरा बनर्जी भी शामिल हैं.
शुक्रवार को मद्रास हाइकोर्ट में कुल 6 न्यायधिशों को मुख्य न्यायधिश के द्वारा शपथ दिलाई गई जिनमें न्यायधीश एस रामातिलगम,  आर तरनी,  टी कृष्णवल्ली और आर हेमलता को भी शामिल किया गया है.
यह भी पढ़ें – Cornelia Sorabji Birthday : महिलाओं के लिए लड़ने वाली पहली महिला वकील को ही भूला देश, गूगल ने किया सलाम तो आई याद
दिल्ली का स्थान दूसरा

मद्रास हाई कर्ट के बाद महिला जजों के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट का नंबर आता है जहां इस समय इनकी संख्या 10 है. वहीं बॉम्बे हाई कोर्ट में महिला जजों की संख्या 9 है जबकि इलाहाबाद हाई कोर्ट में 98 जजों की तैनाती में 6 महिला जज शामिल हैं.

न्यायपालिका में बढ़ रही महिला जजों की भूमिका
हाल ही में देश के प्रमुख और पुराने 4 हाईकोर्ट मुंबई, दिल्ली, कोलकाता और मद्रास में मुख्य न्यायाधीश के पदों की ज़िम्मेदारी महिला जजों को सौंपी गई हैं.
हालांकि आज भी न्यायपालिका में पुरुष जजों की संख्या अधिक है और महिला जजों की भारी कमी है.
लेकिन फिर भी महिलाओं की न्यायपालिका में बढ़ती भूमिका से यह अंदाजा जरूर लगाया जा सकता है कि आने वाले समय में देश के न्यायालयों में महिला जज और वकीलों की संख्या में और अधिक इजाफा देखने को मिलेगा.