Home देश President Salary : सर्वोच्च सेनानायक होते हुए भी राष्ट्रपति का वेतन तीनों...

President Salary : सर्वोच्च सेनानायक होते हुए भी राष्ट्रपति का वेतन तीनों सेना प्रमुखों से कम

SHARE
President Salary
राष्ट्रपति भवन

President Salary : सरकार के प्रमुख सचिवों से भी कम है वेतन

President Salary : आम तौर पर हर व्यक्ति दूसरों की नौकरी के स्टेट्स का आकलन उसे मिलने वाली सैलरी से करता है.

लेकिन अगर कोई व्यक्ति देश के सबसे ऊंचे पद पर बैठा हो मगर उसे मिलने वाला वेतन उसके अधीन आने वाले कर्मचारियों से भी कम हो तो ऐसे में हम उसके स्टेट्स को किस तरह परखेंगे.
आपको शायद यह जानकर हैरानी होगी कि हमारे देश के राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपति का वेतन सरकारी प्रमुख सचिवों और तीनों सेना प्रमुखों के वेतन से भी कम है. जबकि राष्ट्रपति खुद तीनों सशस्त्र सेनाओं जल, थल और वायु के सर्वोच्च कमांडर होते हैं.
और ऐसा इसलिए है क्योंकि लगभग 2 साल पहले सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के लागू होने के बाद इसमें आई विषमताओं को दूर करने के लिए इसके कानून में अभी तक कोई संशोधन नहीं हो पाया है.
यह भी पढ़ें – SSB Adopt Orphan Kids : देश की सशस्त्र सीमा बल अनाथ किशोरों को लेगी गोद, बनाएगी सेना का जवान
नाम जाहिर न करने की शर्त पर गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और राज्यपालों के वेतन बढ़ाने का एक प्रस्ताव तैयार कर करीब एक साल पहले मंजूरी के लिये कैबिनेट सचिवालय को भेजा था लेकिन उस पर अभी तक कोई फैसला नहीं हो पाया है.
इन्हें मिल रहा नया वेतनमान
आपको बता दें कि देश में सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें 1 जनवरी 2016 से लागू होने के बाद कैबिनेट सचिव का वेतन ढाई लाख रुपए, जबकि केंद्र सरकार के सचिवों का वेतन प्रति माह सवा दो लाख रुपए हो गया है.
भारत के राष्ट्रपति के अधिकार
हमारे राष्ट्रपति भारतीय गणराज्य के कार्यपालक अध्यक्ष होते हैं, तथा संघ के सभी कार्यपालक कार्य उनके नाम से किये जाते हैं.
यह भी पढ़ें उत्तराखंड दौरे पर president ramnath kovind को देखकर लोगों ने कहा, क्या राष्ट्रपति ऐसा भी होता है?
वह भारतीय सशस्त्र सेनाओं के सर्वोच्च सेनानायक भी होते हैं,युद्ध के शुरू और शांती की घोषणा करने का अधिकार सिर्फ राष्ट्रपति के ही पास रहता है.
भारत के राष्ट्रपति का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है, क्योंकि वो देश के प्रथम सिटीजन भी रहते हैं.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus