Home देश Sell Bike For Toilet : गोण्डा के मुनव्वर ने घर में शौचालय...

Sell Bike For Toilet : गोण्डा के मुनव्वर ने घर में शौचालय बनवाने के लिए बेची नई बाइक

SHARE
sell bike for toilet
फोटो साभार - दैनिक जागरण

Sell Bike For Toilet : ग्राम प्रधान ने नहीं करी मदद

Sell Bike For Toilet : प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छता अभियान के तहत खुले में शौच ना जाने को लेकर ग्रामीण निवासी भी अब जागरूक होने लगे हैं.

दरअसल उत्तर प्रदेश के गोण्डा निवासी मुन्नव्वर सरकार के इस अभियान से इस कदर प्रेरित हुए कि उसने अपने घर में शौचालय का निर्माण कराने के लिए नई मोटर- बाइक बेच दी.
यह भी पढ़ें – तिरुवनंतपुरम में अब किसी को शौचालय के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा
जानें, क्या है पूरा मामला
मुन्व्वर का परिवार गोण्डा के इटियाथोक ब्लॉक के जगदीशपुर गांव में रहता है. घर में बीवी और चार बेटियों व दो बेटे के साथ रहने वाले मुन्नवर मजदूरी का काम करते हैं.
मुनव्वर बताते हें कि घर में शैचालय के ना होने से उनके परिवार को बाहर खेतों में शौच करने के लिए जाना पड़ता था, जिससे उनकी बड़ी हो चुकी बेटियों और बीवी को काफी शर्म महसूस होती थी.
उन्होंने कहा कि रोज रोज परिवार की इस परेशानी को देखते हुए एक दिन उन्होंने अपने घर में भी शौचालय बनवाने की ठानी. लेकिन जब वो सरकार की तरफ से मिलने वाले अनुदान लेने के लिए ग्राम पंचायत के प्रधान और सचिव के पास गए तो उन्होंने पैसा न होने की बात कहकर उन्हें वापस कर दिया.
यह भी पढ़ें – Hyderabad Eco Friendly Toilet: हैदराबाद में प्लास्टिक की बोतलों से रश्मि ने बनाया शौचालय
शौचालय निर्माण के लिए बेची बाइक
शौचालय बनवाने के लिए सरकार की तरफ से कोई मदद ना मिलता देख मुनव्वर ने फिर अपनी बाइक बेचने का फैसला किया. उन्होंने अपनी नई 55 हजार में खरीदी बाइक को 45 हजार में बेचकर अपने परिवार के लिए शौचालय का निर्माण कराया.
अधिकारियों ने दिया आश्वावाश्न
मामले की जानकारी जब जिले के डीपीआरओ को लगी तो उन्होंने इस पर कार्यवाही करते हुए इस संदर्भ में एडीओ पंचायत से रिपोर्ट मांगी है.
हिंदुस्तान अखबार के अनुसार मंगलवार को जब एडीओ पंचायत फूल चंद श्रीवास्तव मुनव्वर के घर में बने शौचालय का जाएजा लेने पहुंचे तो उन्होंने उनके इस काम की खूब सराहना की.
इसके अलावा उन्हें सरकार की तरफ से शौचालय बनवाने के लिए दी जाने वाली आर्थिक मदद भी जल्द से जल्द दिलवाने का आश्वासन दिया.