Home देश Women Arrested With Drugs : 7 सालों में चंडीगढ़ में ड्रग्स के...

Women Arrested With Drugs : 7 सालों में चंडीगढ़ में ड्रग्स के आरोप में गिरफ्तार महिलाओं की संख्या 700 फीसदी बढ़ी

SHARE
women arrested with drugs
demo pic

Women Arrested With Drugs : महिलाएं अब खुद इसका चला रहीं व्यापार

Women Arrested With Drugs : साल 2016 में आई फिल्म उड़ता पंजाब में दिखाया गया था कि किस तरह पंजाब के युवा नशे में डूब चुके हैं.

हाल ही में पुलिस रिकॉर्ड में सामने आए तथ्यों से हम मान सकते हैं कि उस फिल्म में कितनी सच्चाई थी.
जिस पंजाब की पहचान अनाज से लहलहाते फसलों की हुआ करती थी आज वहां अफीम, हेरोइन और कोकीन जैसे नशे का चलन आम हो गया है.
गौर करने वाली बात यह है कि राज्य में युवाओं पर नशा तो हावी है ही मगर इसे उन तक पहुंचाने वाले दलालों और पेडलरों ने इसे अपना धंधा बना रखा है. जिसमें वो भारी मुनाफा कमा रहे हैं, और अब तो इस नशे के खेल में महिलाओं की भूमिका भी काफी बढ़ गई है.
यह भी पढ़ें – India’s Powerful Women : जानिए, उन शक्तिशाली भारतीय महिलाओं को जिन्हें फोर्ब्स ने अपनी लिस्ट में जगह दी
पंजाब पुलिस द्वारा जारी किए गए ताजा रिकॉर्डों के मुताबिक चंड़ीगढ़ में पिछले 7 सालों में ड्रग्स के चक्कर में पकड़ी गई महिलाओं की संख्या 700 प्रतिशत बढ़ी है. 2011 में जहां केवल 3 महिलाएं ड्रग्स केस में पकड़ी गई थी वहीं 2017 में यह संख्या 24 तक पहुंच चुकी है.
इस मामले में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ज्यादा पैसा अधिक से अधिक महिलाओं को इस व्यापार की तरफ आकर्षित कर रहा है.
उन्होंने बताया कि पहले शहर में महिलाएं नशीली दवाओं की आपूर्ति के लिए केवल कूरियर के तौर पर काम करती थी, मगर अब वो खुद इसका व्यापार चला रही हैं.
हालांकि इनमें से ज्यादातर प्रतिबंधित इंजेक्शन की आपूर्ति में शामिल हैं, फिर भी कुछ लोग हेरोइन, स्काइ और अफीम जैसे व्यापारिक दवाओं की सप्लाई भी कर रही हैं.
यह भी पढ़ें Super Woman Lily : करोड़ों कमाने वाली स्टार यूट्यूबर लिली, हर फरियादी की करती हैं मदद
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि शुरू में इन महिलाओं को ड्रग कूरियर के रूप में इस्तेमाल किया जाता था क्योंकि वे आसानी से नाके पर खड़ी पुलिस चेकिंग से बचकर निकल जाती थी.
क्योंकि अब भी हमारे देश में लोग यही मानते हैं कि ऐसे कामों में महिलाएं शामिल नहीं हो सकती है.
इस बीच, पुलिस उप-अधीक्षक (डीएसपी) (अपराध), पवन कुमार ने कहा कि बदलते परिदृश्य को देखते हुए हम अब हर चेकिंग प्वाइंट पर महिला पुलिस तैनात कर रहे हैं ताकि ऐसे धंधे को करने वाली महिलाओं को भी पकड़ा जा सके.
शायद यही कारण है कि अधिक महिलाएं अब गिरफ्तार हो रही हैं.
आपको बता दें कि महिला विक्रेता ज्यादातर इंजेक्शन का व्यापार करना पसंद करती हैं.
यह भी पढ़ें – China Pregnancy Kit : खबरदार ! भारत में चीन सप्लाई कर रहा लिंग परीक्षण करने वाली प्रेगनेंसी किट
पुलिस का कहना है कि महिलाओं को आम तौर पर बप्पेनोरफ़ीन (एक दर्दनाशक दवा जिसमें अफीम होता है) पर प्रतिबंध लगाए गए इंजेक्शन की आपूर्ति करती हैं. इन दवाओं को खुदरा बिक्री के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है और केवल नशे की लत केंद्रों पर मरीजों को ही प्रशासित किया जाता है.
पुलिस सूत्रों ने बताया कि इन इंजेक्शनों को अंबाला से 70 से 100 रुपए के बीच कीमत पर खरीदा कर चंडीगढ़ में 250 रुपये से 300 रुपये के बीच बेचा जाता है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitterInstagram, and Google Plus