Home देश Women Safest State : महिलाओं के लिए गोवा सबसे सुरक्षित, बिहार की...

Women Safest State : महिलाओं के लिए गोवा सबसे सुरक्षित, बिहार की दशा बेहद खराब

SHARE
Men Women Salary Difference

Women Safest State : दिल्ली का रिकार्ड भी खराब

Women Safest State : हाल में तैयार की गई एक रिपोर्ट के अनुसार भारत का गोवा राज्य महिला सुरक्षा के मामले में पहले नंबर पर है. जबकि बिहार का स्थान सबसे आखिरी है.

प्लान इंडिया द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट को आज महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वार सर्वजनिक किया गया है.
देश में पहली बार जेंडर वलनरेबिलिटी इंडेक्स (जीवीआई) के आधार पर तैयार की गई इस रिपोर्ट में चार मापदंड़ों शिक्षा, स्वास्थ्य, गरीबी और हिंसा पर विशेष ध्यान दिया गया है.
इन मापदंड़ों पर खरा उतरने के मामले में गोवा के बाद केरल, मिजोरम, सिक्किम और मणिपुर का नंबर आता है.
जबकि महिलाओं के लिए असुरक्षित राज्य की सूची में बिहार का 30 वां ,यूपी का 29 और झारखंड का 27वां स्थान आता है.
यह भी पढ़ें – Global Hunger Index 2017: कुपोषण के मामले में 119 देशों की सूची में भारत का 100 वां स्थान
वहीं देश की राजधानी दिल्ली का रिकार्ड भी महिलाओं के लिए अच्छा नहीं रहा है. इस वजह से वो लिस्ट में काफी नीचे है.
आपको बता दें कि हर राज्य को 0 से 1 के बीच का स्कोर दिया गया है. स्कोर जितना ज्याादा 1 के करीब है उस राज्य की रैकिंग उतनी बेहतर है.
इस सूची में पहले स्थान पर रहने वाले गोवा का कुल स्कोर 0.656 रहा. महिलाओं से संबंधित हिंसा के मामले इस राज्य में बेहद कम है इस वजह से इसे महिला सुरक्षा के लिहज से पहला स्थान दिया गया है.
जबकि शिक्षा के लिहाज से इस राज्य का स्थान पांचवा, स्वास्थ्य में छटा और गरीबी के मामले में गोवा आठवें स्थान पर है.
इसके बाद 0.634 के स्कोर के साथ केरल का नंबर है. महिलाओं की सेहत के लिहाज से यह राज्य सबसे आगे है.
गौरतलब है कि इस अंक तालिका में सबसे नीचे स्थान पर बिहार है जिसे 0.410 अंक दिया गया है.
यह भी पढ़ें – Indian Led Bulb : अपने घरों में एलईडी बल्ब जलाने वाले हो जाइए सावधान, रिपोर्ट में हुआ ये खुलासा
सभी 30 राज्यों (दिल्ली को मिलाकर) के मुकाबले यहां महिलाएं सबसे असुरक्षित, अस्वस्थ और गरीब हैं.
बिहार में 39 प्रतिशत लड़कियों की शादी 18 साल की कानूनी उम्र से पहले ही हो जाती है.
15 से 19 साल की 12.2 प्रतिशत लडकियां सर्वे के दौरान या तो गर्भवती थीं, या मां बन चुकी थीं.
इस सूची में दिल्ली का नंबर 30 में से 28वां रहा. इसका जीवीआई स्कोर 0.436 था. महिला सुरक्षा और शिक्षा में इसकी दशा बेहद खराब है.
वहीं झारखण्ड 27वें  (0.450) उत्तर प्रदेश 29वें (0.434) नंबर पर रहा.
स्टडी का डाटासेट 170 संकेतों पर आधारित है इसमें 2011 की जनगणना भी शामिल है.
एनबीटी पर छपि खबर के मुताबिक प्लान इंडिया की ऐग्जिक्यूटिव डायरेक्टर भाग्यश्री डेंगले ने कहा कि वर्तमान में 18 वर्ष से कम आयु की लड़के लड़कियों में लड़कियों की आबादी लगभग आधी है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus