गुड न्यूज : बिहार में आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहायिकाओं के मानदेय में जबरदस्त बढ़ोत्तरी

Bihar Anganwadi Workers Salary

Bihar Anganwadi Workers Salary : आंगबाड़ी सेविकाओं का मानदेय 3000 से बढ़ाकर 4500 कर दिया गया है.

Bihar Anganwadi Workers Salary : बिहार सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्र की सेविकाओं को मां लक्ष्मी के मामले में बड़ी खुशखबरी दी है.

दरअसल मंगलवार को हुई बिहार राज्य कैबिनेट ने आंगनबाड़ी सेविकाओं के महीने में मिलने वाले मानदेय में जबरदस्त बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब से प्रथम आंगबाड़ी सेविकाओं का मानदेय  4500 कर दिया गया है.
इसी तरह मिनी आंगनबाड़ी सेविकाओं का मानदेय 3500 और सहायिकाओं का मानदेय  2250 करने का ऐलान किया गया है.
पढ़ें – महिला पुरूष आर्थिक असमानता को खत्म करने में लगेंगे 200 साल, जानिए भारत में क्या है हाल
गौरतलब है कि अब तक आंगनवाड़ी केंद्र की सेविकाओं को 3000 रुपए ,मिनी आंगनवाड़ी केंद्र की सेविकाओं को 2250 रुपए और सहायिकाओं को 1500 रुपए दिए जाते थे.
यही नहीं केंद्र के संचालन पर सहायिकाओं को 250 रुपये प्रतिमाह प्रोत्साहन राशि भी दिया जाना सुनुश्चित किया गया है.
खास बात यह है कि ये बढ़ी ही राशि 1 अक्टूबर 2018 से लागू होगी यानि की इस दो महीने का बढ़ा हुआ पैसा सेविकाओं को एरियर बनाकर दिया जाएगा.
जानकारों की माने तो इस फैसले से राज्य पर अतिरिक्त 55.58 करोड़ का सालाना भार पड़ेगा.
मुख्यमंत्री नीतिश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग मे इस बात पर फैसला लिया गिया . जिसका लाभ लगभग 1 लाख 60 हजार सेविकाओं और सहायिकाओं को मिलेगा.

इसके अलावा मंत्रिपरिषद ने पटना शहर के आर ब्लॉक से दीघा तक 6.30 किमी लंबी छह लेन सड़क के लगभग 379 .57 करोड़ रुपए की परियोजना को भी मंजूरी दी है.
पढ़ें – खुशखबरी, केंद्रीय कर्मचारियों के NPS खाते में अब सरकार देगी 14 फीसदी योगदान
साथ ही फतुहा में एक लाख 20 हजार टन सालाना क्षमता का टीएमटी बार और क्वॉयल निर्माण की फैक्ट्री लगाने का प्रस्ताव भी पास किया गया है.
यही नहीं राज्य के किसान भाईयों के लिए राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की उप योजना हरित क्रांति के बिहार में कार्यान्वयन और वित्तीय वर्ष 2018-19 में 73.77 करोड़ के खर्च की स्वीकृति भी कैबिनेट ने दी है.