Home सरकारी अड्डा रेलवे ने अपने यात्रियों को दिया होली का तोहफा, इस तरह टिकट...

रेलवे ने अपने यात्रियों को दिया होली का तोहफा, इस तरह टिकट बुक कराना हुआ सस्ता

SHARE
Railway Heavy Luggage Fine
demo pic

Digital Rail Ticket Booking : आरक्षित और अनारक्षित दोनों टिकटों पर लागू होगा फैसला

Digital Rail Ticket Booking : भारतीय रेल में सफर करने वाले यात्रियों के लिए रेल मंत्रालय ने होली का बड़ा तोहफा दिया है.

दरअसल रेलवे ने अपने नए फैसले में ऑनलाइन या डेबिट कार्ड से टिकट बुक कराने वाले मुसाफिरों को बढ़ी राहत देने का ऐलान किया है.
जी हां, यदि आप रेलवे से ऑनलाइन या डेबिट कार्ड के जरिए अपना टिकट बुक कराते हैं तो अब से आपको उस पर लगने वाला अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा.
रेलवे के इस नए फैसले के तहत अब से वो यात्रियों से डिजिटल तरीके से टिकट बुकिंग पर लगने वाला मर्चेंट डिस्काउंट रेट(एमडीआर) चार्ज नहीं वसूलेगा.
बता दें कि अब तक यात्रियों को किसी भी श्रेणी के ऑनलाइन या डेबिट कार्ड से टिकट बुक कराने पर एमडीआर देना पड़ता था, जिसे रेलवे की तरफ से अब समाप्त कर दिया गया है.
जानकारी के लिए आपको बता दें कि रेलवे का यह नया आदेश आईआरसीटीसी की वेबसाइट और ऑफलाइन टिकट कांउटर दोनों पर लागू होगा.
यह भी पढ़ें – टीवी के शौकीनों के लिए खुशखबरी , रिलायंस दिखाएगी 1 साल तक फ्री HD चैनल
इस बारे में रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि किसी भी यात्री द्वारा अगर 1 लाख रुपये तक की कीमत पर टिकट खरीदा जाता है तो उसे अब एमडीआर या यूं कहें कि अतिरिक्त शुल्क देने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी.
उन्होंने आगे बताया कि वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग ने इस मामले पर बैंकों के लिए निर्देश जारी कर दिए हैं. वहीं भारतीय रेलवे ने भी नए टिकट प्रिंट करने की सुविधा शुरू कर दी है.
गौरतलब है कि देश में डिजिटल लेनदेन और कैशलेस करंसी को बढ़ावा देने के लिए रेलवे की तरफ से उठाया गया यह कदम यात्रियों को बड़ी राहत देगा.
मगर हाल ही मे रिजर्व बैंक की तरफ से जारी रिपोर्ट में यह सामने आया है कि देश में एक बार फिर कैश लेनदेन का चलन तेजी से बढ़ा है.
खैर अब देखना यह होगा सरकार की तरफ से उठाए जा रहे यह कदम लोगों को डिजिटल बनाने में कितना असरदार रोल निभा पा रहे हैं.
क्या होता है मर्चेंट डिस्काउंट रेट(एमडीआर) ? 
कोई भी व्यापारी अगर अपनी रकम का भुगतान क्रेडिट या डेबिट कार्ड के जरिए अपने ग्राहकों से बैंक में सीथा करवाता है तो  उस पर कुछ फीसद चार्ज लगाया जाता है, जिसे मर्चेंज डिस्काउंट रेट (व्यापारी छूट दर) कहते हैं.