Home सरकारी अड्डा हरियाणा में पेड़ लगाने पर स्कूली छात्रों को दिया जाएगा जेब खर्च...

हरियाणा में पेड़ लगाने पर स्कूली छात्रों को दिया जाएगा जेब खर्च – राज्य सरकार

SHARE
Haryana School Students Tree Plantation
demo pic

Haryana School Students Tree Plantation : हर 6 महीने में 50 रुपए बतौर प्रोत्साहन राशि दी जाएगी

Haryana School Students Tree Plantation : पर्यावरण संरक्षण के लिए हरियाणा सरकार एक अनूठी पहल की शुरूआत करने जा रही है.

इस नई योजना के तहत सरकार स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को पेड़ लगाने के एवज में सालाना 100 रुपए की प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा करी है.
बता दें कि एक जीवित पेड़ लागने पर प्रत्येक छात्र को 50 रुपए हर 6 महीने के अंतराल में तीन साल तक दिए जाएंगे.
इसके अलावा इन बच्चों को पर्यावरण को सुरक्षित रखने पर आधारति एक पुस्तक भी निशुल्क भेंट की जाएगी.
पढें – Femina Miss India 2018 : तमिलनाडु की अनुकृति वास के सिर सजा मिस इंडिया का ताज
सरकार की तरफ से जारी विज्ञप्ति बताया गया है कि इस योजना का शुभारंभ 10 जुलाई 2018 से किया जाएगा. इसके लिए सरकार ने पर्याप्त मात्रा में नए पेड़ों की उपलब्धता भी कर ली है.
जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना का लाभ सिर्फ कक्षा 6 से 12 तक की पढ़ाई करने वाले सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के छात्रों को ही मिलेगा.  वहीं अभी इन कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या लगभग 22 लाख बताई जा रही है.
भावनात्मक रूप से बच्चों को जोड़ा जाएगा
सरकार की कोशिश है कि कोई भी छात्र पेड़ लगाने को बस फार्मेल्टी ना समझे बल्कि इसकी देखभाल भी पूरी निष्ठा से करे.
इसके लिए सरकार छात्रों को पेड़ों के नाम अपने पूर्वजों या माता पिता के नाम पर रखने की अनुमति देगी ताकि उनका उसे पेड़ के प्रति एक भावनात्मक लगाव बना रहे.
इसके अलावा प्रत्येक छात्रों को उनके घर या किसी भी सार्वजनिक जगह पर कम से कम एक पेड़ लगाने के लिए प्रेरित भी करेगी.
पढ़ें – पुणे के छोटे से गांव के मॉडल से प्रेरित होकर राज्य सरकार लगाएगी 13 करोड़ पौधे
पानी बचाने के लिए अभियान
गौरतलब है कि राज्य में पानी की बर्बादी को रोकने के लिए सरकार टोटी लगाओ पानी बचाओ अभियान चला रही है.
इस अभियान के तहत सरकार की तरफ से गांवों में जरूरत के हिसाब से नल लगाए जा रहे हैं. साथ ही ग्राम पंचायत का पानी बचाने के प्रति अधिक जागरूक करने का काम किया जा रहा है.
बता दें कि ये अभियान 31 दिसंबर 2018 तक जारी रहेगा जिसके पहले फेज में 1 लाख टोटियां लगाने का लक्ष्य हासिल कर लिया गया है.