Home सरकारी अड्डा हवाई जहाज में बदतमीजी करना पड़ सकता है भारी, जारी हुआ नो-फ्लाई...

हवाई जहाज में बदतमीजी करना पड़ सकता है भारी, जारी हुआ नो-फ्लाई लिस्ट

SHARE
AI Women Row
भारत सरकार ने हवाई जवाज में बढ़ते अभ्रद व्यवहार के मामले को गंभीरता से लेते हुए नए नियम बनाए है.
सरकार की तरफ से शुक्रवार को बताया गया कि इस नए कानून के तहत अब से हवाई यात्रा में दुर्व्यवहार करने वाले यात्रियों पर तीन महीने से लेकर आजीवन प्रतिबंध तक लगाया जा सकता है.
तीन श्रेणियों में लगेगा प्रतिबंध
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजापति राजू ने ट्वीट कर इन तीनों श्रेणियों के बारे में यह जानकारी दी. उन्होंने अपने ट्वीट में बताया कि अभद्र व्यवहार करने वाले यात्रियों पर तीन श्रेणियों में अलग-अलग अवधि वाला उड़ान प्रतिबंध लगेगा.
http://

अभद्र व्यवहार की पहली श्रेणी के तहत हवाई जहाज में मौखिक रूप से उत्पीड़न करने का मामला आने पर तीन महीने का उड़ान प्रतिबंध लगाया जाएगा.
http://

दूसरी श्रेणी के तहत हवाई जहाज में साथी पैसेंजर से शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार करने पर दोषी पाए जाने के मामले में छह महीने का उड़ान प्रतिबंध लगाया जाएगा.
http://

वहीं तीसरी श्रेणी के तहत हवाई जहाज में जानलेवा हमला करने पर न्यूनतम दो साल और अधिकतम आजीवन प्रतिबंध का प्रावधान रखा गया है.
हाल के दिनों मे बढ़ी थी फ्लाइट में हिंसा
अंदाजा लगाया जा रहा है कि सरकार ने यह फैसला हाल के दिनों मे हवाई यात्रा के दौरान हुए कुछ लोगों के द्वारा किए गए हिंसक दुर्व्यवहार के चलते लिया है.
जिसमें शिवसेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ के द्वारा एअर इंडिया के कर्मचारी के साथ किया गया कथित हिंसक मारपीट भी शामिल है.
इसके अलावा मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा की अपने साथी कलाकार सुनील ग्रोवर के साथ फ्लाइट में मारपीट का मामला भी लाइमलाइट में काफी रहा.
जिसके बाद हवाई जहाज में यात्रियों की सेफ्टी का मुद्दा सरकार के लिए एक गंभीर विषय बन गया था
30 दिन में समिति करेगी फैसला
मंत्रालय के द्वारा बनाए गए नए नियम के अनुसार विमान के पायलट इन कमांड के तहत किसी यात्री के बारे में शिकायत किए जाने के बाद एयरलाइन की आंतरिक समिति मामले की जांच करेगी. और 30 दिन के अंदर ही प्रतिबंध की अवधि पर फैसला करेगी.
अगर समिति इस अवधि में फैसला देने में फेल हो जाती है तो यात्री उड़ान के लिए फ्री होगा.
हालांकि मंत्रालय की तरफ से अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि इसी समिति में कौन लोग शामिल रहेंगे.