Home सरकारी अड्डा Matru Pitru Diwas : झारखंड के सरकारी स्कूलों में आसाराम ‘बापू’ की...

Matru Pitru Diwas : झारखंड के सरकारी स्कूलों में आसाराम ‘बापू’ की यह सलाह जल्द ही हो सकती है लागू

SHARE
Indian Villages Without School
demo pic

Matru Pitru Diwas : आसाराम बापू भी दे चुके हैं सलाह

Matru Pitru Diwas : यह बात तो हर कोई जानता है कि स्कूल जाने से ज्ञान अर्जित होता है. लेकिन झारखंड के स्कूलों में अब ज्ञान के साथ साथ बच्चों को सांस्कारिक बनाने पर भी जोर दिया जाएगा.

झारखंड की रघुवर सरकार जल्द ही राज्य के सभी 40,000 सरकरी स्कूलों में मातृ-पितृ दिवस के आयोजन की योजना बना रही है. इसके लिए जल्द शिक्षा विभाग सभी स्कूलों के लिए नोटिफिकेशन जारी करेगा.

अब ऐसा माना जा रहा है कि राज्य के सरकारी स्कूलों के बच्चे जल्द ही स्कूल के अंदर अपने माता पिता की पूचा-अर्चना करते दिखाई देंगे.

ऐसा करने के लिए खुद झारखंड की शिक्षा मंत्री नीरा यादव ने राज्य सचिव और शिक्षा विभाग को स्कूलों में ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस‘ का आयोजन कराने का निर्देश दिया है.
हालांकि इस आयोजन को स्कूल प्रशासन द्वारा साल में सिर्फ 1 ही दिन कराना है.
यह भी पढ़ें – State Free Coaching : तमिलनाडु में छात्रों के प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए खोली गई मुफ्त कोचिंग
शिक्षा मंत्री की खुद की है योजना
श्रीमती नीरा यादव ने कहा कुछ रोज पहले वो एक सरकारी स्कूल के निरीक्षण पर गई जहां उन्होंने छात्रों द्वारा अपने मां-बाप की पूजा करते देखा.
उन्होंने बताया कि उस स्कूल के कार्यक्रम में शामिल सभी बच्चे आपने माता-पिता का तिलक कर रहे थे, उन्हें माला पहना रहे थे, उनके पैर धो रहे थे और साथ ही बैकग्राउंड में बच्चों और मां बाप के रिश्तों पर आधारित गाना बज रहा था.
इस दृश्य को देखकर मंत्री महोदया काफी प्रसन्नित हुईं और जल्द ही इस कार्यक्रम को राज्य के सभी स्कूलों में आयोजित कराने का फैसला किया.
यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़- आईएएस,आईपीएस ने पेश की मिसाल,सरकारी स्कूलों में कराया अपने बच्चों का एडमिशन
छत्तीसगढ़ में भी मनता है मातृ पितृ दिवस
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने साल 2014 में हर वेलेंटाइन डे पर मातृ पितृ दिवस मनाने का निर्देश दिया हुआ है.
इस दिन राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर छात्रों के अभिभावकों को आमंत्रित किया जाता है. कार्यक्रम में बच्चे अपने आए हुए माता पिता के पैर छूकर और उन्हें तिलक लगाकर उनका स्वागत करते हैं.
आसाराम बापू ने दी थी सलाह
आपको बता दें कि जेल में नाबालिग लड़कियों के बलात्कार के आरोप में बंद आसाराम बापू ने ही सबसे पहल वेल्टाइन डे के दिन अपने मातृ पितृ दिवस मनाने की सलाह दी थी.
उनका उपदेश था कि 14 फरवरी को युवक- युवती फूल लेकर एक दूसरे के पास जाते हैं जिससे उनके माता-पिता का अपमान होता है .
बापू का कहना था कि 14 फरवरी को फूल ले के नहीं दिल लेकर, पूजा की सामग्री लेकर माँ के और पिता के चरणों में जाओ जिससे तुम्हारा नजरिया शुद्ध हो जाए.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus