रेलवे की नई योजना, अब यात्रा के दौरान ट्रेन के अंदर ही करें शॉपिंग भी

Railway Shopping In Train Facility

Railway Shopping In Train Facility : लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्री कर सकेंगे सामानों की  शॉपिंग

Railway Shopping In Train Facility : आधुनिक युग में यात्रियों की सहुलियत के लिए हमारी भारतीय रेल भी नए नए प्रोजेक्ट इंट्रड्यूस कर लोगों के दिलों में जगह बनाने की पूरी कोशिश कर रही है.

यात्रा के दौरान साफ सफाई,स्टेशनों पर फ्री वाई-फाई, बर्थ पर ऑनलाइन खाने की डिलवरी से लेकर सफर के दौरान यात्रियों की हर शिकायत की तुरंत सुनवाई इसके बड़े उदाहरण है.
अब इसी कड़ी में रेलवे ने एक और कदम बढ़ाते हुए यात्रियों को ट्रेन के अंदर ही शॉपिंग की करने की भी सुविधा देने जा रही है.
जी हां ट्रेन के अंदर शॉपिंग शायद आपको सुनने में ये थोड़ा अजीब लगा रहा हो लेकिन जल्द ही लंबी ट्रेनों के अंदर ये सच होने वाला है.इसके लिए सेंट्रल रेलवे के मुंबई डिवीजन ने एक योजना भी तैयार कर ली है.
पढ़ें – पेट्रोल की पूरी लागत 34 रुपए फिर सरकार हमें 71 में क्यों बेचती है, समझे यहां
जानकारों के मुताबिक अगर रेलवे की ये योजना सफल रही तो इससे विभाग को आर्थिक स्थिति सुधारने में काफी मददद मिलेगी.
क्यों पड़ी इसकी जरूरत
दरअसल अक्सर देखा जाता है कि लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों को कई चीजों की जरूरत महसूस होती है. जिसमें रोजना इस्तमेल में होने वाले सामान जैसे साबुन,मिरर,तेल,क्रीम,बच्चे के बेबी प्रोडक्ट,स्लीपर आदी रहते हैं.
जिन यात्रियों का ट्रेन में 2-3 दिन का सफर रहता है अब भला वो इन चीजों को कैसे खरीद सकते हैं.इसके लिए रेलवे की ये योजना काफी कारगार साबित हो सकती है.
योजना के मुताबिक ​​ट्रेन में शॉपिंग कॉर्ट सहित दो सेल्समेन रहेंगे जो आपके जरूरत के हिसाब से प्रोडक्ट सेल करेंगे.
इसकी खास बात यह रहेगी इसका भुगतान आप नगद के अलावा क्रेडिट या डेबिट कार्ड से भी कर सकते हैं.
मेल/ एक्सप्रेस से शुरू होगी योजना
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस योजना को जल्द ही पश्चिम रेलवे की 16 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में लागू कर दिया जाएगा.
खबरों की माने तो इसके लिए मेसर्स एचबीएन प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी को 5 वर्ष की अवधि के लिए 3.66 करोड़ रुपये में यह कॉन्ट्रैक्ट दे दिया गया है.
पढेंदेश की पहली रेलवे यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए पढ़ें ये खबर
पहले चरण में तीन ट्रेनों से शुरुआत होगी, इनमें से मुंबई-अहमदाबाद शताब्दी एक्सप्रेस का नाम तय हो चुका है.
लेकिन यहां एक और बात जानना जरूरी है कि इन वेंडरों को किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ, तंबाकू, सिगरेट और गुटखा इत्यादि ऐसे उत्पादों को बेचने की अनुमति नहीं है.
रेलवे के मुताबिक यात्रियो को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसके लिए सेल्समेन सुबह 8.00 बजे से रात के 9.00 बजे तक निर्धारित अवधि में ही सामान बेच सकेंगे.