Home सरकारी अड्डा Rajasthan Death Sentence : बच्चियों से रेप पर राजस्थान में होगी फांसी,...

Rajasthan Death Sentence : बच्चियों से रेप पर राजस्थान में होगी फांसी, सरकार ने बनाया नया कानून

SHARE
Rajasthan Death Sentence
फोटो साभार - फेसबुक

Rajasthan Death Sentence :  रेप पर फांसी की सजा देने वाला देश का बना दूसरा राज्य

Rajasthan Death Sentence : देश भर में महिलाओं के प्रति हिंसा को रोकने के लिए मध्य प्रदेश के बाद अब राजस्थान ने भी सख्ती दिखाई है.

दरअसल राजस्थान सरकार ने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ रेप करने वाले आरोपी को फांसी की सजा देने का नया कानून बनाया है.
शुक्रवार को राजस्थान की विधानसभा में पेश हुए इस प्रस्ताव को विधायकों ने सर्वसम्मति से पारित करते हुए इस पर अपनी अंतिम मुहर लगा दी है.
वहीं विधानसभा से पास होने के बाद ये प्रस्ताव राष्ट्रपति के पास जाएगा जहां से मंजूरी मिलने के बाद यह पूरे राज्य में लागू कर दिया जाएगा.
गौरतलब है कि राजस्थान से पहले मध्य प्रदेश इस तरह का कानून बनाने वाला देश का पहला राज्य बना था.
यह भी पढ़ें – Supreme Court On Minor Wife: नाबालिग पत्नी के साथ सेक्स करने पर लगेंगी रेप की धाराएं
राज्य में रेप की घटनाओं को कम करने की कोशिश
इस नए कानून के बारे में जानकारी देते हुए राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने बताया कि उन्होंने इस मामले में पहले के कानून में दो नए संशोधन किए हैं.
जिसमें पहला 12 वर्ष से कम आयु की लड़कियों के खिलाफ अपराधों में दोषी व्यक्तियों के लिए मृत्‍युदंड और आजीवन कारावास को जोड़ा गया है. वहीं दूसरे में अगर अपराधी अपनी 14 साल की सजा को पूरी कर चुका है तब भी वो जीवनभर जेल में ही रहेगा.
कटरिया ने बताया कि राज्य में हर साल 1,300 मामले बच्चियों के साथ रेप के दर्ज हो रहे हैं जिसे इस बिल के पास होने के बाद कम किया जा सकता है.
यह भी पढ़ें – MP Death Sentence : मध्यप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, रेप करने वाले दोषियों को मिलेगी फांसी
मध्यप्रदेश से लिया उदाहरण
बता दें कि इस तरह का कानून सबसे पहले मध्य प्रदेश ने बनाया था. पिछले साल नवंबर में मध्य प्रदेश की कैबिनेट ने राज्य में 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ रेप करने वाले आरोपियों को मृत्यु दंड देने का फैसला किया था.
इसके अलावा गैंगरेप करने वाले दोषियों को भी मौत की सजा के साथ साथ उनके जुर्माने की राशि को भी इस नए प्रस्ताव में जोड़ा गया था.