Home सरकारी अड्डा UP Madarsa New Syllabus : यूपी के सभी मदरसों में एनसीईआरटी की...

UP Madarsa New Syllabus : यूपी के सभी मदरसों में एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाना अनिवार्य

SHARE
Muslim Education Rate

UP Madarsa New Syllabus : धार्मिक किताबों से नहीं होगी छेड़छाड़

UP Madarsa New Syllabus : मदरसों को ऑनलाइन पोर्टल से जोड़ने के बाद यूपी की योगी सरकार अब इनमें पढ़ाए जाने वाले सिलेबस में बदलाव करने जा रही है.

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने इस बात की पुष्टी ट्वीटर से करते हुए बताया कि यूपी मदरसा बोर्ड अब छात्रों को एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाने की तैयारी में है. जिसकी पढ़ाई आने वाले नए सत्र से शुरू भी हो जाएगी.
इसके साथ ही साथ अब से आलिया (इंटरमीडियट) स्तर पर गणित और साइंस के विषय को सभी मदरसों में अनिवार्य कर दिया जाएगा. इसके लिए राज्य मदरसा बोर्ड ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है.

http://

हालांकि उप मुख्यमंत्री ने यह स्पष्ट कर दिया की एनसीईआरटी की किताबों के साथ-साथ मजहबी किताबें से कोई भी छेड़छाड़ नहीं की जाएगी.
इस बारे में उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने बताया कि मदरसों में पढ़ाए जाने वाले सिलेबस की समीक्षा की बात चल रही है.
यह भी पढ़ें – Muslim Women Hajj: तीन तलाक के बाद अब मुस्लिम महिलाओं के मेहरम पर भी लगी रोक
मदरसा बोर्ड सभी कक्षाओं में नए सिलेबस लाने पर विचार कर रहा है.
उन्होंने बताया कि मदरसों में पढ़ाए जाने वाले मौजूदा सिलेबस के दो भाग होते हैं. पहला सिलेबस धर्म से जुड़ा होता है, जो पहले की ही तरह रहेगा.
हमारी योजना दूसरे सिलेबस को बदलने की है जो पारम्परिक होता है. नए सिलेबस में आधुनिक विषयों को भी जोड़ा जाएगा.
पत्रकारों के एक सवाल पर राहुल गुप्ता ने कहा कि अभी तक मदरसों में पढ़ाए जाने वाले हिंदी, अंग्रेजी और साइंस के सिलेबस सुव्यवस्थित नहीं हैं.
टीचर्स एसोसिएशन ने किया स्वागत
टीचर्स एसोसिएशन मदारिस अरबिया उत्तर प्रदेश ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.
वहीं संगठन के महामंत्री दीवान साहब जमां ने कहा कि सरकार अगर दीनी कोर्स को छोड़कर बाकी सिलेबस में वक्त के हिसाब से बदलाव करती है तो यह अच्छी बात है.
यह भी पढ़ें – Chennai Community Fridge: ईसा फातिमा का ये फ्रिज गरीबों को मुफ्त दे रहा खाना और कपड़ा
जमां ने कहा कि इस वक्त प्रदेश के मदरसों में हिन्दी, अंग्रेजी और विज्ञान विषयों के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद का सिलेबस पढ़ाया जा रहा है.
अगर एनसीईआरटी की किताबों से अच्छे परिणाम मिलते हैं, तो यह अच्छी बात है.
मालूम हो कि सरकार ने मदरसों के संचालन में पारदर्शिता लाने के लिए हाल ही में बोर्ड का एक वेब पोर्टल बनाया है.
जिसमें सभी मदरसों से कहा गया था कि वह इस पर अपने यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों, शिक्षकों की संख्या, उनके वेतन और मदरसे के प्रबन्धन समेत कई चीजों के बारे में सूचना अपलोड करें.
आपको बता दें कि अभी तक प्रदेश के 19 हजार मान्यता प्राप्त मदरसों में से करीब 2500 ने ये सूचनाएं पोर्टल पर नहीं डाली है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus