Home हेल्थ रिपोर्ट एरोबिक व्यायाम करने से दिमाग की बिमारी से ग्रसित रोगियों को मिलता...

एरोबिक व्यायाम करने से दिमाग की बिमारी से ग्रसित रोगियों को मिलता है लाभ – अध्ययन

SHARE
Aerobic Exercise
demo pic

Aerobic Exercise : WHO के तय मानकों के आधार पर करें एक्सरसाइज

Aerobic Exercise : बढ़ती उम्र के साथ बुजुर्ग व्यक्तियों के अंदर होने वाली अल्जाइमर नामक बिमारी से बचाव के लिए एक रिपोर्ट में ऐरोबिक व्यायाम को काफी असरदार माना गया है  .

बता दें कि अल्जाइमर एक दिमागी बिमारी है जिसका सामना ज्यादातर लोग अपने बुढापे में करते हैं.
इस बीमारी में पीड़ित धीरे धीरे अपनी याददाश्त और सोचने समझने की शक्ति को खो बैठता है. यहीं नहीं उम्र के आखिरी पड़ाव में व्यक्तियों को होने वाली पागलपन की बिमारी भी अल्जाइमर का ही एक सामान्य रूप है.
 जर्नल ऑफ द अमेरिकन गेराट्रिक्स सोसाइटी में छपे एक अध्ययन के मुताबिक अल्जाइमर जैसे दिमागी विकार में थोड़ी सी देरी और उनमें थोड़े सुधार के लिए किए गए कई प्रकार के एरोबिक व्यायाम वयस्कों के लिए अधिक लाभकारी हो सकते है.
यह भी पढ़ें – Cancer Blood Test : सिर्फ एक ब्लड टेस्ट से की जा सकेगी 8 प्रकार के कैंसर की पहचान
WHO ने तय कर रखे है मानक
गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहले ही बढ़ती उम्र के वयस्कों को अल्जाइमर से बचने के लिए कई तरह के व्यायामों के मानक तय कर रखे हैं.
संगठन के मुताबिक एक हफ्ते में 150 मिनट पैदल चलना या फिर 75 मिनट तक एरोबिक व्यायाम करना या दोनों व्यायाम एक साथ करना इस बिमारी से बचाव के लिए काफी लाभाकारी साबित हो सकता है.
इसके अलावा WHO ने बिमारी से पीड़ित लोगों से यह भी अपील करी है कि हफ्ते में कम से कम दो या उससे अधिक दिनों तक मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए इस तरह का अभ्यास करते रहना चाहिए.
हालांकि,व्यायाम और बढ़ती उम्र के वयस्कों पर किए गए सभी शोधों ने व्यायाम के लाभों को साबित नहीं किया है और यह भी तय नहीं है कि व्यायाम मानसिक याददाश्त को कितना कम या उसमें सुधार करता है.
यह भी पढ़ें – Benefits Of Tea : रोजाना चाय पीने वाले होते हैं काम को लेकर अधिक सक्रिय और क्रिएटिव – अध्ययन
बहरहाल, शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में यह पाया है कि एरोबिक ट्रेनिंग करने वाले वयस्कों में ना करने वालों के मुकाबले  तीन गुणा अधिक लाभ देखने को मिला.
जानकारी के लिए बता दें कि अल्जाइमर विकार पर कुल 1 9 अध्ययन किये गए थे जिसमें 1,145 बढ़ती उम्र के वयस्क शामिल थे.
वहीं इस अध्ययन में भाग लेने वालों में, 65% अल्जाइमर के रोग से पीड़ित थे और 35% लोग इस रोग से निकल चुके थे.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus