Home हेल्थ रिपोर्ट क्या कॉफी पीने से होता है कैंसर, जानें क्या है पूरा सच

क्या कॉफी पीने से होता है कैंसर, जानें क्या है पूरा सच

SHARE
Coffee Causes Cancer

Coffee Causes Cancer : WHO ने कॉफी से कैंसर होने की अभी कोई पुष्टि नहीं की है लेकिन California की एक अदालत ने कॉफी प्रोडक्ट्स पर कैंसर की वॉर्निंग देने का आदेश दिया है.

Coffee Causes Cancer : कॉफी आपके शरीर को फायदा पहुंचाती है या नुकसान इस बात का अभी तक सही अनुमान नहीं लगाया जा सका है.
हाल ही अमेरिका के कैलोफोर्निया में एक जज के कॉफी से होने वाले कैंसर को लिए गए आदेश सभी कॉफी पीने वालों के लिए थोड़ा हैरान करने वाला था.
दरअसल अदालत ने कहा कि कॉफी तैयार करने की प्रक्रिया में एक्रिलेमाइड नाम का एक केमिकल निकलता है, जो कैंसर होने का कारण है. इसके लिए जज ने सभी कॉफी कंपनियों से पैकेटों पर कैंसर की चेतावनी दिए जाने को कहा है.
हालांकि अदालत ने कॉफी को कैंसर का संभावित खतरा बताया है लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन ने साल 2016 में ही कॉफी को संभावित कैंसर तत्वों की सूची से हटा दिया है.
जानें क्या है एक्रिलेमाइड
एक्रिलेमाइड’ एक तरह का कैम‌िकल है ज‌िससे कैंसर का खतरा पैदा होता है, इससे सबसे ज्यादा नुकसान बच्चों को है.
जाहिर है कि acrylamide शब्द सुनने में डरावना है, लेकिन पानी को भी oxidane कहते हैं जो सुनने में अच्छा नहीं लगता है. असल में काफी अधिक मात्रा में acrylamide के सेवन से कैंसर हो सकता है. कॉफी में इसकी मात्रा काफी कम होती है.
दरअसल वर्ष 2002 में स्वीडन के एक वैज्ञानिक ने रिसर्च में बताया कि ये एक्रिलेमाइ़ड कैमिकल कई खाने वाली चीजों में पाया जाता है.
हालांकि कच्चे खाद्य यानि बिना पके हुए पदार्थों में ये नहीं पाया जाता है. लेकिन इन कच्चे पर्दाथों को बहुत तेज़ तापमान पर पकाया जाए तो इस कैमिकल के होने की आशंका बढ़ जाती है.
बता दें कि इस तत्व को शॉट फॉर्म में एए कहते हैं, इसे उच्च तापमान 120 डिग्री सेल्सियस व उससे अधिक पर पकाए या तले गए कार्बोहाइड्रेड वाले भोजन जैसे फ्रेंच फ्राई, आलू च‌िप्‍स, ब्रेड, ब‌िस्कुट और कॉफी में एए बन जाता है.
यह स‌िगरेट के धुएं में भी पाया जाता है, और यही कारण है कि भोजन को पकाने के तरीकों पर भी ध्यान देना जरूरी हो जाता है. वहीं पिछले साल 2017 में यूरोप के 10 देशों के करीब 5 लाख लोगों पर एक स्टडी के अनुसार दिन के 3 कप कॉफी पीना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बताया गया है.
लेकिन अब भी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि कॉफी पीना कितना फायदेमंद और कितना नुकसानदायक, आपको बता दें कि जब कुछ खाद्य पदार्थ को हाई टेंपरेचर पर देर तक रोस्ट, ग्रिल या फ्राई किया जाते हैं जिसके चलते Acrylamide बनता है. जानवरों पर किए गए स्टडीज में यह सामने आया है कि Acrylamide ट्यूमर पैदा करता है.
1986 से कैलिफोर्निया में जिन चीजों से कैंसर या हेल्थ रिस्क है उस पर वॉर्निंग देने का प्रावधान है.
इसलिए एक ग्रुप कॉफी में पाए जाने वाले इस कैंसर होने वाले रसायन को और इससे होने वाले खतरे को रोकना चाहता है, यही वजह है कि अदालत में इस मामले पर पिछले आठ सालों से बहस चल रही है.
स्टारबक्स समेत 90 अन्य कॉफी बेचने वाली कंपनियां के खिलाफ सीईआरटी मामला कोर्ट में ले गई थी.
बहरहाल अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हुई लेकिन हमारा मानना है कि भले ही कॉफी में पाए जाने वाले इस रसायन की मात्रा कम हो पर इसके सेवन की अधिकता हमारे स्वास्थ्य पर कैंसर जैसी बीमारी की जगह बना सकती है.
इसलिए बेहतर होगा कि जब तक वैज्ञानिक इसका सटीक आंकड़ा नहीं दे देते तब तक सभी को कॉफी के सेवन पर सावधानी बरतनी चाहिए.