Home हेल्थ रिपोर्ट Fake Drugs : भारत में हर 100 दवाओं में 10 दवा नकली,...

Fake Drugs : भारत में हर 100 दवाओं में 10 दवा नकली, WHO की रिपोर्ट

SHARE
fake drugs
demo pic

Fake Drugs : नकली दवा के सेवन से शरीर होता है खराब

Fake Drugs : अगर आप कंपनी का नाम देखकर किसी भी महंगी दवा को आंख बंद कर खरीद रहे हैं तो हो जाईए सावधान. क्योंकि भारत में ओरिजनल दवा के नाम पर नकली दवाएं धड्ल्ले से बेची जा रही हैं.

आपको जानकर यह हैरानी होगी कि भारत में 10 दवा में हर 1 दवा नकली निकलती है, या यूं कहें कि हमारे यहां 10 फीसद दवा बाजार में नकली बिक रही है.
यह आंकड़े किसी छोटी मोटी एजेंसी के नहीं, बल्कि विश्व के सबसे बड़ी संस्था विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जारी किए हैं.
23 नवंबर को जारी हुई इस रिपोर्ट के बाद एक बार फिर से भारत की विश्व समुदाय में किरकिरी होना लाजिमी है.
आपको बता दें कि डब्ल्यूएचओ ने अपने सर्वे में कुल 48,218 दवा के सैंपलों पर 100 तरीके से अध्ययन किया था. जिसके बाद यह पाया गया है कि कम और मध्ययम आय वाले देशों में करीब 10.5 फीसद दवाएं नकली व घटिया क्वालिटी की बिक रही हैं जिनमें हमारे भारत का नाम भी है.
इन देशों में बिकने वाली घटिया दवाइयों में एंटीमलेरिया और एंटीबायोटिक दवाएं भी शामिल हैं. जिनकी क्षमता रोगों से लड़ने लायक भी नहीं है.
यह भी पढ़ें – Benefits Of Dog : लंबी उम्र के लिए जरूर पालें कुत्ता, अध्ययन में सामने आया ये नया पहलू
नकली दवा से पैसे बर्बाद ही नहीं, शरीर भी होता है खराब
गौरतलब है कि इन नकली दवाइयों को खरीदकर लोग अपने पैसे तो बर्बाद करते ही हैं, जबकि उन दवाइयों से मरीज को कोई फायदा भी नहीं पहुंचता.
रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि इन नकली दवाइयों का सेवन करने से कोई लाभ नहीं, बल्कि उल्टा स्वास्थ्य का नुकसान ही होता है.
कईं देशों से गुजरती हुए आती हैं नकली दवा
रिपोर्ट में चौंकाने वाली बात सामने आई है कि ये नकली दवा देश में नहीं बनती हैं. बल्कि इन्हें बाहरी देशों से निर्यात किया जाता है.
रिपोर्ट के बाद यह पता चला है कि ग्लोबलाइजेशन का फायदा उठाकर इसे बाहरी देश में बनाया जाता है, फिर किसी दूसरे देश में इसकी पैकेजिंग की जाती है.
जिसके बाद इन तैयार दवाओं को बेचने के लिए भारत जैसे कईं देशों में भेजा जाता है. इसी कारण से इन नकली दवाओं को पकड़ पाना मुश्किल होता है.
यह भी पढ़ें Doctor Consultation Time : भारत के डॉक्टर मरीजों से परामर्श के लिए देते हैं केवल 2 मिनट
भारत में बिगड़ते स्वास्थ्य के पीछे नकली दवा भी कारण
इन नकली दवाओं का सेवन करने से मनुष्य के शरीर के रोगाणु (बीमारी से लड़ने वाले रोगजनक) नष्ट होने लगते हैं.
इससे इंसान बीमारी की चपेट में जल्दी आता है. रिपोर्ट की मानें तो भारत में हर साल बीमारी के कारण होने वाली लोगों की मौतों में 30 फीसद नकली दवाओं के सेवन करने से होती हैं.

साभार – डेली नेशन
For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitterInstagram, and Google Plus