Home हेल्थ रिपोर्ट Selfie Sickness : ज्यादा सेल्फी लेने से हो सकते हैं आप इस...

Selfie Sickness : ज्यादा सेल्फी लेने से हो सकते हैं आप इस बिमारी से ग्रसित

SHARE
selfie sickness
demo pic

Selfie Sickness : लोगों पर चढ़ा हुआ है सेल्फी फीवर

Selfie Sickness : आगर आप भी सेल्फी लेने के दिवाने हैं तो आपके लिए यह खबर चौंकाने वाली है.

दरअसल भारत में हुए एक अध्यन में यह पाया गया है कि जो लोग ज्यादा सेल्फी लेने के शौकीन हैं उन्हें मानसिक बिमारी हो सकती है.
लोगों पर चढ़ा है सेल्फी फीवर
भारत समेत पूरे दुनिया में इस समय लोगों के अंदर सेल्फी लेने का अपार क्रेज देखने को मिल रहा है. बच्चों से लेकर बूढें तक हर कोई अपने पलों को यादगार बनाने के लिए सेल्फी ले रहा है.
बीते कुछ समय में सेल्फी लेना इतना पॉपुलर हो गया है कि ऐसा लग रहा है मानो मोबाइल में फ्रंट कैमरा इसीलिए लगाया गया हो. घर,दफ्तर,बाजार,रेस्टोरेंट यहां तक की बीच सड़क पर भी लोग सेल्फी लेना पसंद कर रहे हैं.
 इस दौरान वो इतना मशगूल हो जाते हैं कि जैसे उन्हें आस पास की कोई खबर ही ना हो. धीरे-धीरे यही शौक लोगों के अंदर बिमारी का रूप लेता जा रहा है जिसका इलाज जरूरी है.
यह भी पढ़ें – World’s Slavery Report: दुनिया में 4 करोड़ लोग अब भी गुलामी भरी जिंदगी जीने को मजबूर
साइकिएट्रिक ने माना मानसिक विकार
ब्रिटेन के नॉटिंघम ट्रेंट विश्वविद्यालय और तमिलनाडु के त्यागराज स्कूल ऑफ मैनेजमेंट ने वर्ष 2014 में अमेरिकन साइकिएट्रिक एसोसिएशन के द्वारा सेल्फीवादी लोगों को वास्तविक मानसिक विकार की श्रेणी में रखने वाली खबर को पढ़ा था.
जिसके बाद दोनों विश्वविद्यालयों के शोधकर्ताओं ने मिलकर इस पर अध्ययन करना शुरू किया . जिसे अब जाकर इन्होंने अमेरिका के साइकिएट्रिक एसोसिएशन के सिल्फी लेने वालो को मानसिक विकार की श्रेणी में रखे जाने की पुष्टी की है.
आपको बता दें कि 200 लोगों पर गंभीरता से किए गए इस अध्ययन के बाद इन्होंने एक सेल्फीवादी आचारण मापक तैयार किया है.
यह भी पढ़ें – Cancer Patient In India: देश में हर साल 10 लाख लोग कैंसर से प्रभावित, 7 लाख लोगों की हो जाती है मौत
भारत के लोगों पर हुआ अध्ययन
इस अध्ययन को भारत के लोगों पर किया गया है क्योंकि हमारे देश में फेसबुक उपयोगकर्ताओं की बहुत बड़ी संख्या है. और सेल्फी लेने के चक्कर में होने वाली मौतों के मामले में भी भारत का स्थान पहला है.
एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में 2014-2016 के बीच सेल्फी के कारण होने वाली मौतों में भारत का हिस्सा 60 प्रतिशत था.

 For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus