Home ह्मयूमन कनेक्शन मथुरा-वृंदावन की विधवा महिलाओं को सुप्रीम कोर्ट से राहत, आजीविका के लिए...

मथुरा-वृंदावन की विधवा महिलाओं को सुप्रीम कोर्ट से राहत, आजीविका के लिए मिला ये काम

SHARE
Supreme Court Mathura Widows Income
PC - DNA

Supreme Court Mathura Widows Income : भगवान पर चढाए फूल को इन विधवाओं को देने के लिए कोर्ट ने मंदिर प्रशासन को दिया निर्देश 

Supreme Court Mathura Widows Income: सुप्रीम कोर्ट ने मधुरा में रह रहीं विधवा महिलाओं की आजीविका को लेकर मथुरा और वृंदावन के मंदिर प्रशासन के लिए नए निर्देश जारी किए हैं.

मंगलार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा कि जिले के सभी मंदिर प्रशासन विधवाओं की आजीविका में सहयोग के लिए भगवान पर चढाए जाने वाले फूलों को विधवा आश्रमों में देने का काम करें. जिससे वो इन फूलों से परफ्यूम/अगरबत्तियां आदि बनाकर ऐसा अपनी आजीविका कमा सकें.

http://

बता दें कि मथुरा और वृंदावन में सैकड़ों मंदिर हैं जिनमें भारी मात्रा फूल आते हैं जोकि प्रयोग के बाद बर्बाद हो जाते हैं.
यह भी पढ़ें – Wireless Varanasi : भगवान भोले की नगरी हुई वायरलेस, बिजली के लटकते तारों से मिला शहर को छूटकारा
एफएफडीसी से मिल चुका है सर्टीफिकेट
अमर उजाला पर छपि खबर के मुताबिक इन महिलाओं को फ्रेगरेंस ऐंड फ्लेवर डिवेलपमेंट सेंटर (एफएफडीसी), कन्नौज में सरकार द्वारा प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है.
जहां उन्होंने फूलों से इत्र, धूप, अगरबत्तियां और गुलाल बनाना सीख है. यही नहीं इन्हें इसकी टेस्टिंग का सर्टिफिकेट भी एफएफडीसी ने दिया है.
इसके अलावा एफएफडीसी से ट्रेनिंग के बाद इन विधवाओं ने मंदिरों में चढ़े फूलों से इस होली में तकरीबन 100 किलो गुलाल बनाया था जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत प्रदेश सरकार के सभी मंत्रियों को भी भेजा गया था.