Home ह्मयूमन कनेक्शन हिमाचल की गीता दुर्गम पहाड़ियों पर बच्चों को बना रही रोगमुक्त, WHO...

हिमाचल की गीता दुर्गम पहाड़ियों पर बच्चों को बना रही रोगमुक्त, WHO Calendar 2018 में मिली जगह

SHARE
WHO Calendar 2018
geeta verma

WHO Calendar 2018 : महिला स्वास्थ्यकर्मी के पद पर है कार्यरत

WHO Calendar 2018 : हिमाचल के मंडी जिले की एक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता गीता वर्मा ने साल 2018 के विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कैलेंडर में जगह बनाई है.

हिमाचल की पहाड़ियों पर अक्सर आपने बाइकर्स को रोड ट्रीप करते हुए देखा होगा, जिनमें ज्यादा तादाद मर्दों की होती है.
लेकिन मंडी जिले की खतरनाक सड़कों पर हिमाचल की एक स्वास्थ्य कर्मचारी पहाड़ के दूर दराज के क्षेत्रों में सिर्फ इसलिए बाइक पर घूमती रहती हैं ताकि उनके क्षेत्र का कोई भी बच्चा किसी दवा से अछूता ना रहे जाए.
मंडी के करोड तहसील में सपनोट गांव की गीता ने अपने इस खास ऑपरेशन से क्षेत्र में खसरा और रूबेला जैसी बिमारियों से लड़ने में सफलता पाई है.
इसके आगे गीता का लक्ष्य है कि वह क्षेत्र में लगभग 100% स्वास्थ्य कवरेज सुनिश्चित करने का काम कर सके.
यह भी पढ़ें – #FreePeriods : लंदन में फ्री पीरियड्स अभियान के लिए आगे आईं भारतीय मूल की अमिका जॉर्ज
मंडी जिले के झांजली ब्लॉक में शकदरहारा स्वास्थ्य उप-केंद्र में तैनात गीता जिले के दूरदराज के गांवों में बच्चों को वैकसिनेशन कराने के लिए अभियान चला रही हैं.

WHO Calendar 2018

जब भी दूर दराज के इलाकों में कोई टीकाकरण अभियान होता है तो वह खुद बाइक उठाकर लंबी दूरी तय करके वहां पहुंच जाती है. इसी वजह से जमीनी स्तर पर किए जा रहे उनके प्रयासों की लोग बहुत प्रसंशा करते हैं.
गौरतलब है कि गीता अपनी मोटरसाइकिल लेकर मंडी के कई दूर दराज के कोनों में गई है ताकि लागों को वह इन बिमारियों के बारे में जागरुक करके उन्हें वैक्सीन दे सके.
यही नहीं गीता भटकल समुदाय के बच्चों तक वैक्सीन पहुंचाने के लिए कई बार ट्रैकिंग करके दूर दराज के विगट इलाकों में जा चुकी है.ताकि किसी भी समुदाए का कोई बच्चा उनके क्षेत्र में गंभीर बिमारी से पीड़ित ना हो सके.
यह भी पढ़ें Vaccination Reminder App : इस लड़की के ऐप की मदद से मां-बाप लगवा सकेंगे बच्चों को सही समय पर टीका
वहीं मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने भी गीता की उपलब्धियों के लिए उन्हें बधाई दी और कहा कि यह राज्य के लिए गर्व की बात है कि एक महिला स्वास्थ्य कर्मचारी को डब्लूएचओ कैलेंडर में शामिल किया गया है.
उन्होंने कहा कि सभी कर्मचारियों को गीता से उनकी नौकरी के प्रति प्रतिबद्धता और जनता की सेवा करने की सीख लेनी चाहिए.