Indian Army Day 2019 : भारतीय सेना के लिए क्यों खास है आज का दिन

Army Day 2019
PC - Twitter

Indian Army Day 2019 : 15 जनवरी 1949 को आजाद भारत को अपना पहला सेनाध्यक्ष मिला था.

Indian Army Day 2019 : आज भारत अपना 71वां सेना दिवस (Army Day) मना रहा है, हर साल 15 जनवरी को इस दिवस को मनाया जाता है.

हममे से कुछ ऐसे लोग भी होंगे जिन्हें शायद ये नहीं पता होगा की आज ही के दिन क्यों मनाया जाता है सेना दिवस, तो उन लोगों के लिए पेश है हमारी ये खास रिपोर्ट
दरअसल 15 जनवरी 1949 को आजाद भारत को अपना पहला सेनाध्यक्ष मिला था.
आज से 69 साल पहले फील्ड मार्शल केएम करियप्पा ने जनरल फ्रांसिस बुचर से भारतीय सेना की कमान ली थी.
बता दें की जनरल फ्रांसिस बुचर भारत के आखिरी ब्रिटिश कमांडर इन चीफ थे वहीं केएस करियप्पा देश के पहले सेनाध्यक्ष.
पढ़ें हम क्यों मनाते हैं मकर संक्रांति? जानिए इस त्योहार का शुभ मुहूर्त और महत्व
किस तरह मनाया जाता है आज का दिन
आज दिल्ली स्थित करियप्पा परेड ग्राउंड में सेना के जवाओं द्वारा परेड का आयोजन किया जाता है.
यहां मुख्य अतिथि के रुप में मौजूद सेनाध्यक्ष परेड की सलामी लेगें और साहस एवं वीरता के लिए सैन्य कर्मियों को वीरता पुरस्कारों से सम्मानित करेंगे.
इसके अलावा आज के दिन देश की सुरक्षा में शहीद होने वाले वीरों के साहस एवं उनकी उपलब्धियों को याद किया जाता है.
इस साल ये होगा खास
आपको जानकार खुशी होगी इस कि आर्मी परेड (Army Day Parade 2019) का नेतृत्व एक महिला अफसर करेंगी जो की भारतीय सेना के इतिहास में पहली बार होगा.
लेफ्टिनेंट भावना कस्तूरी आर्मी सर्विस को लीड करेंगी,कैप्टन शिखा सुरभी बाइक पर स्टंट करती दिखेंगी तो वहीं कैप्टन भावना स्याल ट्रांसपोर्टेबल सैटेलाइट टर्मिनल के साथ परेड पर भारतीय सेना की ताकत दिखाएंगी.
पढ़ें – यह है भारत का सबसे अमीर गांव, रईसी और शानो-शौकत उड़ा देगी होश
जानें अपनी भारतीय सेना से जुड़ी कुछ उपलब्धियां जिसे जानकर आपका सिर फक्र से ऊंचा हो जाएगा
1.सर्वप्रथम भातीय सेना का गठन ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा सन् 1776 में कोलकाता में हुआ था.
2.फिलहाल इश समय देशभर में भारतीय सेना की 53 छावनियां और 9 आर्मी बेस हैं.
3. 1962 चीन युद्ध को अगर छोड़ दिया जाए तो हमारी भारतीय सेना को कभी भी हार का सामना नहीं करना पड़ा है चाहे 191 पाक युद्ध हो या 1965 या फिर 1999 करगिल युद्ध हर जगह हमारी सेना अपने पराक्रम से दुश्मन के दांत खट्टे किए हैं.
4.समुद्र तल से 5000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित सियाचिन ग्लेशियर दुनिया की सबसे ऊंचा युद्धक्षेत्र है.
5.आज सेना में हमारे जवानों की संख्या 13 लाख से भी ज्यादा है,जो की 1949 में करीब 2 लाख थी.

ह्यूमन जंक्शन की तरफ से अपनी भारतीय सेना के सभी जवानों को सेना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं