भारत का विदेशी निवेश 7% गिरा, इस देश से आया सबसे अधिक पैसा

FDI During April-December 2018-19 Falls

FDI During April-December 2018-19 Falls : 7 प्रतिशत गिरकर 33.49 अरब डॉलर हो गया है.

FDI During April-December 2018-19 Falls : पुलवामा हमले के जख्मों के बीच विश्व बाजार से भी भारत के लिए एक बुरी खबर आ रही है.

दरअसल वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के ताजा आकड़ों के मुताबिक भारत में विदेशी निवेश यानी की FDI में गिरावट आई है.
2018-19 के वित्त वर्ष अप्रैल- दिसंबर अवधि में विदेशी निवेश 7 प्रतिशत गिरकर 33.49 अरब डॉलर हो गया है.
जानकारों की माने तो विदेशी निवेश में इस गिरावट की वजह से देश के भुगतान संतुलन पर दबाव पड़ सकता है और साथ ही साथ रुपये के मूल्य पर भी इसका बुरा असर हो सकता है.
पढ़ेंगृहमंत्री ने पूरे देश के लिए एकल आपातकालीन नंबर ‘112’ किया लांच
बता दें की इन 9 महीनों में सबसे ज्यादा विदेशी निवेश जिन क्षेत्रों में आया है उनमें सेवा क्षेत्र (5.91 अरब डॉलर), कंप्यूटर सॉफ्टवेयर एवं हार्डवेयर (4.75 अरब डॉलर), दूरसंचार (2.29 अरब डॉलर), ट्रेडिंग (2.33 अरब डॉलर), रसायन (6.05 अरब डॉलर) और वाहन उद्योग (1.81 अरब डॉलर) शामिल हैं.
वहीं आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दें की इन नौ महीने में भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश करने वाले देशों में सबसे ऊपर सिंगापुर रहा है.
सिंगापुर ने कुल 12.97 अरब डॉलर का निवेश किया है इसके बाद मॉरीशस (6 अरब डॉलर), नीदरलैंड (2.95 अरब डॉलर), जापान (2.21 अरब डॉलर), अमेरिका (2.34 अरब डॉलर) और ब्रिटेन (1.05 अरब डॉलर) का स्थान है.
गौरतलब है की 2017-18 के वित्त वर्ष की अप्रैल – दिसंबर अवधि में एफडीआई के जरिए देश में कुल 35.94 अरब डॉलर आए थे.