2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था रैंकिंग में ब्रिटेन को पछाड़ देगा भारत

UN Fastest Growing Economy Report 2019

India Overtake UK In World Largest Economy Ranking : फ्रांस को पहले ही पछाढ़ चुका है  

India Overtake UK In World Largest Economy Ranking : देश की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था को लेकर एक खुश कर देने वाली खबर आई है, और सबसे ज्यादा अगर किसी को कोई खुशी होगी तो वो हमारे पीएम मोदी जी को

अंतराष्ट्रीय संगठन द्वारा जारी हुई एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत 2019 में दुनिया की निया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में ब्रिटेन को पीछे छोड़ सकता है.
अगर ये बात सच हो जाती है तो हमारे देश के लिए ये एक बड़ी कामयाबी होगी, ऐसा इसलिए क्योंकी 200 सालों तक हम पर राज करने वाला ब्रिटेन हमसे दुनिया के इस सबसे अहम मापदंड में पीछे हो जाएगा.
बता दें की ये अनुमान वैश्विक सलाहकार कंपनी पीडब्ल्यूसी( प्राइस वाटर हाऊस कूपर्स ) ने लगाया है.
पीडब्ल्यूसी की इस रिपोर्ट में कहा गया है की 2019 में ब्रिटेन की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 1.6 प्रतिशत जबकी फ्रांस की 1.7 प्रतिशत रहेगी. वहीं भारत की इस मामले में 7.6 प्रतिशत रहेगी.

पढ़ें क्या है पीएम मोदी को मिला ‘कोटलर प्रेसिडेंशियल अवार्ड’ ? और क्यों मचा है इस पर बवाल

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और फ्रांस 2019 में ब्रिटेन को पीछे छोड़ देंगे जिस वजह से वो वैश्विक रैंकिंग में पांचवें स्थान से फिसलकर सातवें पायदान पर पहुंच जाएगा.
ज्ञात हो विश्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार 2017 में भारत 2,590 अरब डॉलर की बराबरी के साथ फ्रांस को पीछे छोड़कर दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है.
वहीं इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है की सूची में ब्रिटेन और फ्रांस एक ही स्तर के विकास और कमोबेश समान आबादी की वजह से आगे पीछे होते रहते हैं.
लेकिन यदि भारत इस सूची में आगे निकलता है तो उसका स्थान स्थायी रहेगा.
यहां आपको जानकारी के लिए बता दें की पीडब्ल्यूसी वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट एक लघु प्रकाशन है जो वैश्विक अर्थव्यवस्था के रुख और मुद्दे पर गौर करता है.
पीडब्ल्यूसी इंडिया के भागीदार एवं लीडर (लोक वित्त तथा अर्थशास्त्र) रानेन बनर्जी ने कहा कि यदि कोई देश विदेश में कोई बड़ी अड़चन नहीं आती है तो 2019-20 में भारत 7.6 प्रतिशत की मजबूत वृद्धि की ओर लौट सकता है.

पढ़ें कुंभ मेले में कितने अखाड़े पहुंचते हैं ? जानें इनसे जुड़ी कुछ अहम बातें

हालांकी इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है की 2019 में वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर सुस्त रहेगी.
इसकी एक वजह यह भी है की दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि दर ने 2016 के अंत तथा 2018 के शुरू में जो रफ्तार पकड़ी थी अब वह पूरी हो चुकी है.