धनकुबेंरो की आय रोजाना 2,200 करोड़ बढ़ी, जानें भारत में अमीरी गरीबी के आकड़ें

Oxfam Indian Wealth Report 2019
demo pic

Oxfam Indian Wealth Report 2019 : भारत में 9 अमीरों के पास 50% लोगों से ज्यादा संपत्ति

Oxfam Indian Wealth Report 2019 : 125 करोड़ की आबादी वाले भारत में केवल 1 फीसदी लोगों के पास देश की 51.53 फीसदी संपत्ति है.

यानी की इससे साफ हो रहा है की भले ही हमारी सरकारें खुद को गरीबों का मसीहो बताती हों, मगर सच तो ये है कि देश में अमीर और अमीर होता जा रहा, गरीब और गरीब.
इस बात की पुष्टी करती है OXFAM की हाल में जारी हुई रिपोर्ट. इसके मुताबिक भारत में बड़े बिजनेसमेन या यूं कहे की धनकुबेरों की आय में पिछले साल रोजाना 2,200 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई है.
ये जानकर आप और भी चौंक जाएंगे की देश में वित्तीय रूप से कमजोर लोगों की संपत्ति में महज 3 फीसदी का इजाफा हुआ है. वहीं इन 1 फीसदी धनकुबेरों में ये इजाफा 39% फीसदी है.
अगर वैश्विक तौर पर देखें तो दुनिया के करोड़पतियों की संपत्ति में प्रति दिन 12 फीसदी के हिसाब से बढ़ोतरी हुई. जबकी दुनिया भर में मौजूद गरीब लोगों की संपत्ति में 11 फीसदी का घाटा ही देखने को मिला है.
पढ़ें2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था रैंकिंग में ब्रिटेन को पछाड़ देगा भारत
इस रिपोर्ट के अनुसार भारत में 13.6 करोड़ लोग जो की देश की जनसंख्या के 10 फीसदी है वो गरीब हैं .यही नहीं ये लोग साल 2004 से ही कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं.
वहीं 10 फीसदी ही लोगों के पास कुल 77.4 फीसदी संपत्ति है,जबकी एक फीसदी के पास कुल 51.53 फीसदी .
जबकी देश की जनसंख्या के 60 फीसदी लोगों के पास सिर्फ और सिर्फ 4.8 फीसदी संपत्ति है.
रिपोर्ट के अनुसार, 2018 से 2022 के बीच भारत में रोजाना 70 अमीर बढ़ेंगे. अगर देश में नए अरबपतियो की बात करें तो 2018 में करीब 18 नए अरबपति बने हैं, जिसके बाद अब इनकी कुल संख्या 119 हो गई है.
अमीरी-गरीबी के बीच इस बढ़ती खाई को देखते हुए ऑक्सफेम ने कहा कि ये दुनियाभर में गरीबी के खिलाफ लड़ाई को कमजोर, अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रही है जो की दुनिया के सभी लोगों का गुस्सा बढ़ाने जैसे है.
ऑक्सफेम इंटरनेशनल की कार्यकारी निदेशक विनी ब्यानयिमा ने कहा, ‘नैतिक रूप से यह बेहद अपमानजनक है कि मुट्ठीभर अमीर लोग देश की संपत्ति में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाते जा रहे हैं, जबकि गरीब दो जून की रोटी और बच्चों की दवा तक के लिए संघर्ष कर रहे हैं.
पढ़ें इन खतरों को लेकर भारत का अमीर तबका रहता है सबसे ज्यादा चिंतित
रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में करीब 26 लोग ऐसे हैं जिनके पास 3.8 बिलियन लोगों से भी अधिक संपत्ति है, पिछले साल ये आंकड़ा 44 का था.
उदाहरण के तौर पर अमेजन के फाउंडर और दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति Jeff Bezos को ही ले लीजिए उनके पास अभी 112 बिलियन डॉलर की संपत्ति है, जो कि इथोपिया जैसे देश के कुल हेल्थ बजट के बराबर है जहां पर 115 मिलियन की जनसंख्या है.
बता दें की ये रिपोर्ट वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) की सालाना पांच दिवसीय बैठक से पहले जारी किया गया है.