पीएम मोदी की विदेशी यात्राओं पर 4 साल में खर्च हुए 2000 करोड़,जानें पूरी डिटेल

PM Modi Foreign Trips Cost
PC- PIB

PM Modi Foreign Trips Cost : सबसे ज्यादा खर्च एयर इंडिया के रखरखाव और सुरक्षित हॉटलाइन को स्थापित करने में हुआ है.

PM Modi Foreign Trips Cost : प्रधानमंत्री मोदी की ताबतोड़ विदेशी यात्रा भारत के खजाने पर बड़ी भारी पड़ गई.

सत्ता में आने के बाद जून 2014 से लेकर 2018 तक करीब इन 4 सालों में हमारे माननीय प्रधानमंत्री की विदेशी यात्राओं को सफलतापूर्वक कराने के लिए भारत के राजकोष को 2000 करोड़ से ज्यादा का झटका लगा है,ऐसा हम नहीं बल्कि खुद विदेश मंत्रालय की तरफ से ये जानकारी दी गई है.
संसद में पूछे एक सवाल में मौजूदा विदेश राज्य मंत्री वी.के. सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी की अब तक 84 विदेशी यात्राओं पर कुल 2011 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं.
विमानों के रखरखाव में हुई बड़ी राशि खर्च
बतौर विदेश राज्य मंत्री प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं में सबसे ज्यादा खर्च एयर इंडिया के रखरखाव और सुरक्षित हॉटलाइन को स्थापित करने में लगे हैं.
उन्होंने बताया की विमानों के रखरखाव में 1,583 करोड़, चार्टेड प्लेन में 429.28 करोड़ और हॉट लाइन पर कुल 9.12 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं.
पढ़ें – ईशा अम्बानी और कपिल शर्मा की शादी 12 को ही क्यों हुई ?
बता दें की बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पहले विदेशी दौरे पर भूटान गए थे. इसके बाद तो मानों उनके कदम रुके ही नहीं, और उन्होंने चीन,जापान,अमेरिका,रुस ,जर्मनी,इजरायल और अफ्रीका जैसे देशों के दौरे पर गए.
गौरतलब है कि कई देश तो ऐसे हैं जहां पीएम साहब दो से तीन बार पहुंच गए, खास बात है कि उनकी विदेश यात्रा में पाकिस्तान का भी नाम शामिल है भले ही वो आधिकारिक नहीं जन्मदिन की मुबारकबाद के लिए ही गए हों.
कहां और किस देश में कितना हुआ खर्च विस्तार से जानने के लिए विदेश मंत्रालय की इस आधिकारिक वेबसाइट के इस लिंक पर www.mea.gov.in क्लिक करें 
PM Modi Foreign Trips Cost
Desalination Jeep
विपक्षियों के निशाने पर रही है विदेश यात्रा
जब भी कोई देश में बड़ा फैसला या घटना होती है तो प्रधानमंत्री किसी ना किसी विदेश यात्रा पर चले जाते हैं,ऐसा हमारा नहीं बल्कि विपक्षियों का कहना है.
2016 में  नोटबंदी के तुरंत बाद जापान की यात्रा पर निकल गए थे, उस समय जहां पूरा देश बैंकों की लंबी कतारों में खड़ा था वहीं प्रधानमंत्री महोदय विदेशी धरती पर थे.
कुछ लोग तो उनकी विदेशी यात्राओं को देखते हुए उनका नाम Mr. Airman तक रख दिए हैं.
पढ़ें – नए RBI गर्वनर पुराने वाले उर्जित पटेल से कितना हैं अलग
दुनिया में भारत का बढ़ा मान
भले ही प्रधानमंत्री की विदेशी यात्राओं पर करोड़ों रुपए खर्च हुए हैं मगर कुछ जानकार इसे सार्थक खर्चे के तौर पर देख रहे हैं.
उनका मानना है कि पीएम मोदी ने भारत की विदेश नीति को एक नई दिशा दी है. साढ़े चार साल के दौरान की गए उनकी विदेश यात्राओं से भारत को दुनिया में एक मजबूत पहचान मिली है.