Home एनजीओ समाचार Rajasthan Brave Girl : फेसबुक की मदद से लड़की ने अपने बाल-विवाह...

Rajasthan Brave Girl : फेसबुक की मदद से लड़की ने अपने बाल-विवाह को साबित किया गैरकानूनी

SHARE
rajasthan brave girl

Rajasthan Brave Girl : 12 साल की उम्र में अधेड़ से हुई थी शादी

Rajasthan Brave Girl : राजस्‍थान में एक लड़की ने फेसबुक की मदद से समाज की रुढ़िवादी सोच के दलदल से बाहर आने में कामयाबी पाई है.

दरअसल राजस्थान की रहने वाली 19 साल की सुशीला बिश्नोई को नाबालिग उम्र में जबरदस्ती अपने से अधेड़ उम्र के लड़के से शादी के बंधन में बांध दिया गया था. जिसे बालिग होने के बाद सुशीला ने स्वीकार ने इंकार कर दिया.
इस मामले को लेकर जब वो कोर्ट में गई तो उनके पास कोई भी ऐसा साक्ष्य नहीं था जो यह बता सके की उनकी शादी जब हुई थी तो वह नाबालिग थी.
लेकिन समाजिक कार्यकाता कृति भारती की मदद से उन्होंने अपने पति के फेसबुक पेज को खंगालकर कोर्ट में शादी के सबूत पेश किए. जिसके बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो गया.
यह भी पढ़ें- Anjum Saifi: 25 साल पहले हुई पिता की हत्या का बदला लेने के लिए बेटी बनी जज
सामाजिक कार्यकर्ता कृति भारती ने की मदद

Rajasthan Brave Girl : राजस्‍थान में कई सारे बाल विवाह रुकवाने वाले सारथी ट्रस्‍ट की सामाजिक कार्यकर्ता कृति भारती ने इस मामले को गंभीरता से लते हुए सुशीला की मदद की.

उन्होंने बताया कि लड़की के पति के कई दोस्‍तों ने फेसबुक पर उसे शादी की बधाई दी थी. जिसे हमने सबूत के तौर पर कोर्ट के सामने पेश किया और जज ने इन सारे सबूतों को मानते हुए इस शादी को अमान्‍य घोषित कर द‍िया.
आपको बत दें कि सुशीला की शादी साल 2010 में राजस्‍थान के बाड़मेर में बेहद गुपचुप तरीके से हुई थी. शादी के वक्‍त सुशीला की उम्र महज 12 साल थी.
यह भी पढ़ें- Pakistan Continue Child Marriage: पाकिस्तान की नजर में बाल विवाह को रोकना ‘गैर-इस्लामिक’
राजस्‍थान में यह नियम है कि शादी के बाद लड़कियां अपने माता-पिता के साथ तभी तक रह सकती हैं जब तक कि वो 18 साल की न हो जाएं. 18 साल होने के बाद लड़कियों को उनके ससुराल पति के साथ रहने के लिए भेज दिया जाता है.
सुशीला बिश्‍नोई का कहना है कि जब वो 18 साल की हो गईं तो उनके घरवाले उसे ससुराल जा कर पति के साथ रहने के लिए मजबूर कर रहे थे.
उन्होंने बताया कि मैं आगे पढ़ना चाहती थी लेकिन मेरे घर वाले और ससुराल वाले उस शराबी के साथ रहने के लिए मुझ पर दबाव बना रहे थे.
सुशीला के मुताबिक उनके लिए यह जिंदगी और मौत का मामला था जिसमें उन्होंने अपनी जिंदगी को चुना.
यह भी पढ़ें- Supreme Court On Minor Wife: नाबालिग पत्नी के साथ सेक्स करने पर लगेंगी रेप की धाराएं
बाल विवाह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का कड़ा रूख
Rajasthan Brave Girl : हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक फैसले में कहा है कि 18 साल से कम उम्र की पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाना बलात्कार माना जाएगा. और ऐसा करने पर पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो सकता है.
हालांकि इसके लिए खुद पत्नी को पति के खिलाफ पुलिस में शिकायत संबंध बनाने के एक साल के अंदर दर्ज करानी होगी.

साभार- रिपब्लिक
For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On Facebook, Twitter, Instagram, and Google Plus