इंडोनेशिया में ही क्यों आती हैं सबसे अधिक प्राकर्तिक आपदा ? जानना चाहेंगे आप

Indonesia Tsunami Update
PC - USA Today

 Indonesia Tsunami Update : करीब  373 लोगों की हुई मौत और 1,459 हुए घायल

Indonesia Tsunami Update : बीते शनिवार रात जब पूरी दुनिया में लोग क्रिसमस प्लान कर रहे थे, इंडोनेशिया में भी लोगों के बीच कुछ ऐसा ही माहौल था और उनके बीच भी यहीं बातें चल रही थीं.

लेकिन,शायद जीसस को कुछ और ही मंजूर था तभी तो बिना किसी चेतावनी के अचानक इंडोनेसिया के लोगों पर सुनामि का कहर टूट पड़ा.
अब तक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस सुनामी में करीब 373 लोगों के मरने की खबर है और हजारों लोग लापता है.
वहीं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पूर्वो नुग्रोहो ने सेामवार को बताया, ‘‘आपदा में मरने वाले की संख्या 373 तक पहुंच गई है, और 1,459 लोग घायल हुए हैं.
हालांकी उन्होंने ये भी कहा कि समुद्री तटों पर तबाही और भारी मात्रा में लापता लोगों की संख्या को देखते हुए मरने वालों की तादाद में इजाफा हो सकता है. 
बता दें सुनामी की पहली लहर शनिवार रात 1.30 बजे आई थी जब आसपास रहने वाले लोग अपने अपने घरों में सो रहे थे  
Indonesia Tsunami Update
PC – ABS
‘बिना किसी चेतावनी के आयी  सुनामी”
दरअसल, साइंस के पास इतनी टेक्नोलॉजी तो है कि वो भूकंप या सुनामी को पहले से भांप लेकिन इंडोनेशिया में आयी तबाही को भांपने में कोई सक्षम नहीं रहा.
वजह यह थी कि जब कोई सुनामी आती है उससे पहले भूकंप आता है पर इंडोनेशिया में ऐसा नहीं हुआ. 
पढ़ेंपेट्रोल-डीजल के दाम तो भारत में भी बढ़े लेकिन फ्रांस इतना क्यों उबल रहा
हाँ सुनामी से कुछ दिन पहले क्रेकाटोआ ज्वालामुखी में विस्फोट हुआ था जिसके बाद सुनामी की आशंका थी, लेकिन जब सुनामी आयी तब सब शांत था चारों और काला अँधेरा था. 
ज्ञात हो क्रेकोटोआ ज्वालामुखी ने अगस्त 1883 में इंडोनेशिया में काफी तबाही मचाई थी, तब 41 मीटर ऊँची सुनामी आई थी और 30 हज़ार से अधिक लोग मारे गए थे. 
तो भूकंप नहीं है इंडोनेसिया में आयी सुनामी की वजह 
इंडोनेशिया में रहने वाली एक महिला के अनुसार “भूकंप की वजह से सुनामी नहीं आई है. सुनामी की असल वजह का पता करने में मुश्किल यही है, क्योंकि भूकंप नहीं आया.” 
वहीं ज्वालामुखी विशेषज्ञ ने कहा “जब ज्वालामुखी फटता है तो बेहद गर्म मैग्मा पानी के अंदर भारी हलचल पैदा करता है. ये समंदर के भीतर चट्टान को तोड़ सकता है, जिससे कभी-कभी बड़ा भूस्खलन हो सकता है.”
Indonesia Tsunami Update
PC – CBS
फिर आ सकती है सुनामी 
एक और ज्वालामुखी विशेषज्ञ  की माने तो इंग्लैंड की क्राकातोआ ज्वालामुखी अभी भी भड़क रहा है, इसके चलते फिर से समुद्र तल पर भूस्खलन की स्थिति पैदा हो सकती है.  ऐसे में अगर फिर भूकंप केझटके महसूस हुए तो फिर से सुनामी का खतरा काफी बढ़ जाए है. 
क्यों इंडोनेशिया में आते हैं सबसे ज़्यादा प्राकर्तिक आपदा 
इंडोनेशिया में सबसे ज़्यादा सुनामी और भूकंप आते हैं और इसकी वजह वहां की ज्योग्राफिकल लोकेशन है.
पढ़ें नतीजों के बाद जानें पांच राज्यों की विधानसभा में कितने करोड़पति और आपराधिक मुकदमे वाले विधायक पहुंचे
दरअसल, इंडोनेशिया रिंग ऑफ फायर में है, यह इलाका 40 हज़ार वर्ग में फैला है और इंडोनेसिया इसी के किनारे बसा है. रिंग ऑफ़ फायर प्रशांत महासागर का वो इलाका है जो हमेशा सक्रीय ज्वालामुखी से भरा रहता है. 
Indonesia Tsunami Update
बीते वर्षों में इंडोनेशिया में आए भूकंप और सुनामी 
जुलाई – 2006 : 700 लोगों की मौत
सितंबर – 2009 : 1,100 लोगों की मौत
अक्टूबर – 2010 : 300 लोगों की मौत
दिसंबर – 2016 : 100 लोगों की मौत
अगस्त – 2018 : 500 लोगों की मौत
सितंबर – 2018 : 2000 लोगों की मौत
दिसंबर – 2018 : 350 लोगों की मौत
 इंडोनेशिया में आई इस दुख की घड़ी में  हमारी वहां के लोगों के प्रति हमारी पूरी सांत्वना , हम आशा करते हैं कि जल्द वो  ही वहां सामन्य स्थिति  होंगी.