कुछ साल पहले तक राजनीति से बाहर रहकर जनता की सेवा में विश्वाश रखती थी प्रियंका

Priyanka Gandhi Join Politics

Priyanka Gandhi Join Politics : पूर्वी यूपी की कांग्रेस की महासचिव बनाई गई प्रियंका गांधी वाड्रा

Priyanka Gandhi Join Politics : 2019 के चुनाव नजदीक आ गए है और ऐसे में बीजेपी को हराने के लिए लगभग पूरा विपक्ष एक हो चुका है.

देश की सबसे पुरानी और लंबे समय तक राज करने वाली कांग्रेस ने अपने पास रखा आखिरी हथियार भी इस्तेमाल कर लिया है.
राहुल की बहन प्रियंका हैं कांग्रेस का आखिरी हथियार ?
दरअसल राहुल गांधी ने परिवारवाद को बढ़ावा देते हुए अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को पार्टी का महासचिव घोषित करते हुए पूर्वी यूपी की ज़िम्मेदारी सौंप दी है.
ये बात सुनकर आपके दिमाग में एक सवाल जरूर खटका होगी कि उनके आने से कांग्रेस पार्टी को कितना फायदा होगा ?

पढ़ेंपार्षद से सांसद बने कांग्रेस के सज्जन कुमार,कैसे बन गए आरोपी ?

बता दें की प्रियंका गांधी उन चुनावी चेहरों में से हैं जिन्होंने कभी हार नहीं देखी, कहने का मतलब ये है कि उन्होंने आज से पहले जिस भी सीट के लिए प्रचार किया है वहां पार्टी को जीत ही मिली है.
हालांकी अभी तक प्रियंका गांधी अपने भाई और मां की अमेठी -रायबरेली सीट पर ही प्रचार करने तक सीमित थी.
लेकिन अब पूरे पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान उनके मिलने के बाद बीजेपी के लिए काफी मुश्किल हो सकती है,सबसे खास बात है की ये क्षेत्र पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ का गढ़ माना जाता है.
Priyanka Gandhi Join Politics
नहीं थी राजनीति में आने की मंशा
प्रियंका गांधी वाड्रा का जन्म 12 जनवरी 1972 को दिल्ली में हुआ था,वो भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव और सोनिया गांधी की पहली संतान और इंदिरा गांधी की पोती हैं.
इन्होंने अपनी शिक्षा माडर्न स्कूल कॉन्वेंट ऑफ़ जीसस एण्ड मैरी नई दिल्ली से प्राप्त की और वह दिल्ली विश्वविद्यालय से मनोविज्ञान विषय से स्नातक भी हैं.
अपने राजनीतिक करियर को लेकर उन्होंने 1999 में एक चुनावी अभियान के दौरान बीबीसी से बातचीत में कहा था की “मेरे दिमाग में यह बात बिलकुल स्पष्ट है कि राजनीति शक्तिशाली नहीं है, बल्कि जनता अधिक महत्वपूर्ण है और मैं उनकी सेवा राजनीति से बाहर रहकर भी कर सकती हूँ.”
कई मौके पर राजनीतिक प्रवेश के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कुछ ऐसी ही बातें का जवाब दिया.
खैर अब वो राजनीति में पूरी तरह प्रवेश कर चुकी हैं तो ऐसे में हमारी टीम की तरफसे उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं
पीएम मोदी ने प्रियंका की एंट्री को लेकर कही ये बात
मोदी ने कहा कि लोकतंत्र भाजपा के रगों में दौड़ता है जबकि अन्य के मामलों में परिवार से ही पार्टी बनती है या यूं कहे की परिवार ही पार्टी है.
पढ़ें – कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में ली सीएम पद की शपथ,कांग्रेस के 15 साल के वनवास को किया खत्म
पीएम मोदी का ये संकेत साफ तौर पर प्रियंका गांधी की राजनीति में प्रवेश को लेकर था, लेकिन कहीं न कहीं हर राजनीतिक विशेषज्ञ के अनुसार बीजेपी को प्रियंका के आने से नुकसान झेलना पड़ सकता है.
प्रियंका वाड्रा को कुछ लोग तो पीएम पद की दावेदार तक देख रहे हैं हालाकिं, कांग्रेस अभी ऐसे गठबंधन में है जहां हर कोई खुद को पीएम सिद्ध करने में लगा है.
फिलहाल यह आने वाला वक़्त तय करेगा कि प्रियंका का कदम देश और खुद कांग्रेस पार्टी के लिए क्या रंग लाएगा…