Home विज्ञान Alter Ego Device : भारतीय मूल के अर्नव की अनोखी इजात, दिमाग...

Alter Ego Device : भारतीय मूल के अर्नव की अनोखी इजात, दिमाग पढ़ने वाली बनाई डिवाइस

SHARE
Alter Ego Device

Alter Ego Device : भारतीय-मूल के छात्र की ये डिवाइस सामने वाले के विचारों को आवाज़ देगी.

Alter Ego Device : अगर आप भी अपने दोस्त के दिमाग में चलने वाले विचारों को पढ़ना चाहते हैं तो जल्द ही इस एक डिवाइस के जरिए आपके लिए ये मुमकिन हो जाएगा, जी हां यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं बल्कि सच है.

हाल ही में अमेरिका की मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) में पढ़ने वाले भारतीय मूल के एक छात्र ने ऐसी तकनीक की खोज कर निकाली है जिसकी मदद से लोगों के दिमाग में क्या चल रहा है या वे क्या सोच रहे हैं आप उसे शब्दों में सुन सकते हैं.
आपको बता दें कि दुनिया भर में इस डिवाइस से क्रांति लाने वाले छात्र का नाम अर्नव कपूर है, जिसने अपनी इस डिवाइस का नाम ‘एल्टर इगो‘ हेडसेट दिया है.
एमआईटी मीडिया लैब की वेबसाइट के अनुसार इस डिवाइस में ऐसा कोई यंत्र नहीं है जिससे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से किसी के दिमाग को पढ़ा जा सके, इसलिए इससे निजता भंग होने का भी कोई खतरा नहीं है.
यह भी पढ़ें – 15 साल के इस लड़के का आधुनिक ड्रोन सैनिकों की जान बचाने में बनेगा मददगार
कैसे काम करेगी डिवाइस
‘एल्टर इगो’ नाम की इस डिवाइस में विचारों को आवाज देने के लिए एक छोटा सा यंत्र होगा जो इंसान के जबड़े पर लगाया जाएगा.
इसे लगाने के बाद जब भी कोई बोलने की कोशिश करेगा तो यंत्र विद्युत तरंगों पर अध्ययन करेगा और बोलने से पहले ही विचारों को आवाज दे देगा.
अर्नव कपूर के द्वारा निर्मित की गई इस डिवाइस में 16 सेंसर लगे हैं. जो कान, जबड़े और चेहरे के निचले हिस्से से लेकर गले और निचले होट तक को छूता नजर आ रहा है. खुशी की बात यह है कि इस डिवाइस को आप कहीं भी पहन कर आ जा सकते हैं.
हालांकि जानकारी के मुताबिक इस डिवाइस की सफलता इस बात पर निर्भर करेगी कि यह कितनी सत्यता के साथ दिमाग के वाइब्रेशऩ को शब्दों में बदलती है.
बहरहाल कपूर की टीम का दावा है कि मौजूदा समय में इस मशीन की सत्यता 92 फीसदी है, जो कि गूगल के वॉयस ट्रांसक्रिप्शऩ से थोड़े ही कम है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitterInstagram, and Google Plus