Home विज्ञान सूरज को करीब से जानने के लिए नासा का अंतरिक्ष यान लांच,...

सूरज को करीब से जानने के लिए नासा का अंतरिक्ष यान लांच, जानें कैसे है ये खास

SHARE
Nasa Satellite Parker Solar Launch
demo pic

Nasa Satellite Parker Solar Launch : इस पूरे मिशन का नाम नासा ने “टच द सन” रखा है

Nasa Satellite Parker Solar Launch : दुनिया की प्रमुख स्पेस एजेंसी नासा ने आज यानि की रविवार को अपने एक नए एतिहासिक यान को सफलता पूर्वक लांच कर दिया है.

सूरज को करीब से जानने के लिए भेजे गए इस अंतरिक्ष यान का नाम एजेंसी ने पार्कर सोलर प्रोब रखा है जो वैज्ञानिक यूजीन पार्कर के नाम से प्रेरित बताया जा रहा है.
दरअसल इतिहास में ऐसा पहली बार है जब नासा ने अपने किसी जीवित वैज्ञानिक के नाम पर यान का नाम रखा है.
ऐसा इसलिए क्योंकी यूजीन ही वो पहले वैज्ञैनिक हैं जिन्होंने यह अनुमान लगाया था कि सौर हवाएं होती हैं.इन्होंने ही सर्वप्रथम तारों द्वारा ऊर्जा संचारित करने की कई अवधारणाएं पेश की थीं.
पढ़ें – इस तरह मोदी जी देश के बचाएंगे 12000 करोड़ रुपए, आपको भी होगा फायदा
हालांकि उस समय उनकी इस बात पर किसी को भी विश्वाश नहीं था.
बता दें कि इस पूरे मिशन का नाम नासा ने “टच द सन” रखा है जिसे आज 2 अगस्त को ईस्टर्न डे टाइम के अनुसार 3.31 बजे केप कानावेरल एयरफोर्स स्टेशन से रवाना किया गया.
वैसे जानकारी के लिए बता दें कि पहले इश सेटेलाइट को 11 अगस्त को लांच किया जाना था मगर कुछ कारणों की वजह से इसे एक दिन के लिए टाला गया.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नासा को इस यान को बनाने में लगभग 1.5 अरब डॉलर की लागत लगी है.

सूर्य को करीब से जानने वाला बना पहला यान
गौरतलब है कि सूरज को इतने करीब से जानने के लिए अब तक किसी भी देश की स्पेस एजेंसी ने ऐसा यान नहीं बनाया था.
नासा का ये पार्कर सोलर प्रोब सात साल तक सूरज के इर्दगिर्द चक्कर लगाते हुए अध्ययन करेगा.यह यान सूरज की बाहरी परत कोरोना के नजदीक रहेगा जिसका तापमान 10 लाख डिग्री सेलेसियस रहता है.
कार के आकार वाला यह यान 4.30 लाख मील प्रति घंटे की रफ्तार से सूरज के 24 चक्कर लगाएगा.इस यान का मुख्य उद्देश्य ये पता लगाना रहेगा कि सूरज के आसपास किस प्रकार की ऊर्जा और गर्मी रहती है.
पढ़ें – Getting WiFi Fast Speed : वाई-फाई में नहीं मिलती है मनचाही स्पीड, तो पढ़ें ये जरूरी टिप्स
इस तरह किया गया डिजाइन
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने मिशन को कामयाब बनाने के लिए यान को बनाने में किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं बरती है. नासा ने पार्कर सोलर प्रोब को सूरज के अत्यधिक तापमान से बचाने के लिए 8 फुट की उड़न तश्तरी बनाई है.
यान का जो हिस्सा सूरज की तरफ होगा उस पर सफेद सेरामिक पेंट की परत चढ़ाई गई है, ताकि यह सूरज की गर्मी को वापस भेज सके.
बता दें कि 8 फुट चौड़ाई वाली इस सुरक्षा परत का वजन तकरीबन 73 किलोग्राम है.

पूरा वीडियो देखें –