Ashish Nehra Retirement : जानें, कम बैक किंग नेहरा का चोटिला भरा क्रिकेट सफर

Ashish Nehra Retirement

Ashish Nehra Retirement : 18 साल के क्रिकेट करियर में हो चुकी है 12 सर्जरी

Ashish Nehra Retirement : भारतीय क्रिकेट टीम के बाएं हाथ के बॉलर आशीष दीवान सिंह नेहरा, जिसे हम आशीष नेहरा के नाम से जानते हैं. आज अपने क्रिकेट करियर का अंतिम मैच खेलने जा रहे हैं.

दिल्ली के रहने वाले  6 फीट के नेहरा की पहचान भारतीय क्रिकेट टीम में एक तेज गेंदबाज के रूप में हुआ करती थी.
महज 20 साल की उम्र में टेस्ट पारी से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत करने वाले नेहरा ने 24 फ़रवरी 1999 को श्रीलंका के खिलाफ अपना पहला मैच खेला था.
चोट और नेहरा का साथ रहा अटूट
नेहरा का पूरा क्रिकेट करियर चोटों के कारण बुरी तरह प्रभावित रहा है. यही कारण है कि उन्होंने अपने 18 साल के लंबे करियर में केवल 17 टेस्ट, 120 वनडे और 26 टी-20 मैच खेले हैं.
भारत के कई पूर्व खिलाडी और आशीष नेहरा के करीबी दोस्त तो यह तक कह चुके हैं कि उनकी बॉडी का शायद ही कोई पार्ट बचा होगा जिसकी अभी तक सर्जरी ना हुई हो.
आपको बता दें कि 17 टेस्ट मैच खेल चुके आशीष नेहरा ने अपना पिछला और आखिरी टेस्ट मैच साल 2004 में रावलपिंडी में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था.
यह भी पढ़ें – Hardik Pandya Special: बचपन में क्रिकेट को नापसंद करने वाले हार्दिक, जानिए कैसे भारतीय टीम के हुकुम का इक्का बन गए
और इत्तेफ़ाक की ही बात है कि उन्होंने अपना आखिरी एक दिवसीय मैच भी पाकिस्तान के खिलाफ ही साल 2011 में विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मोहाली में खेला था.

ashish nehra retirement

बार बार कमबैक कर किया खुद को साबित
नेहरा का करियर चोटों से काफी प्रभावित रहा है. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में कुल 12 सर्जरी कराई हैं. लेकिन हर सर्जरी के बाद उन्होंने उतने ही जोश के साथ टीम में वापसी भी की है.
2016 में उनके द्वारा टी-20 क्रिकेट में की गई वापसी भी उनके इसी जज्बे को दिखाता है.
यही नहीं चोट से वापसी करते हुए ही उन्होंने 2011 विश्व कप टीम में अपनी जगह बनाई थी और टीम को विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई थी.
मगर उनकी खराब किस्मत ही कहिए कि अपनी चोट के कारण वो 2011 के विश्व कप का फाइनल नहीं खेल पाए थे.
यह भी पढ़ें – ICC New Rule: जानिए, अक्टूबर से किन नियमों के तहत खेला जाएगा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट
पत्नी को दिया कमबैक का क्रेडिट
आशीष नेहरा की पत्नी का नाम रुशमा है.  एक चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि उनकी पत्नी रुश्मा पहले लंदन में रहती थीं.
दोनों की मुलाकात 2001 में हुई और 2009 में उन्होंने शादी कर ली, और अब उनके 2 बच्चे भी हैं.
नेहरा कहते हैं कि चोट के दौरान जब ऐसा लगता था कि मेरा करियर खत्म हो गया तो रुश्मा ने उन हालातों में उन्हें बहुत प्रोत्साहित किया.
उन्होंने बाताया कि लंदन में रहने के बावजूद भी उन्होंने मानसिक तौर पर मुझे काफी मजबूत बनाए रखा.
आशीष नेहरा अपने जीवन में अपनी पत्नी को लकी चार्म मानते हैं.
उनका कहना है कि 2009 में शादी के बाद से उनके जीवन में काफी सुखद बदलाव आए और वह बतौर इंसान और ज्यादा परिपक्व और मजबूत हुए हैं.

ashish nehra retirement

खास है यह रिकॉर्ड
आपको बता दें कि किसी भी भारतीय गेंदबाज़ द्वारा वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने का खिताब आशीष नेहरा के पास ही है.
2003 के वर्ल्ड कप में नेहरा द्वारा इंग्लैंड के 6 बल्लेबाज़ों को सिर्फ़ 23 रन पर आउट करना उनके करियर की एक यादगार उपलब्धि है.
इसके इलावा नेहरा पहले ऐसे भारतीय गेंदबाज़ हैं जिन्होंने वनडे क्रिकेट में 2 बार 6 से ज्यादा विकेट्स लिए हैं.
ऐसा नहीं है कि उनकी प्रतिभा पर किसी को कोई शक था, लेकिन उनकी सबसे बड़ी दुश्मन उनकी फिटनेस बनी हुई  थी.
इस बात का हमेशा रहेगा नेहरा को अफसोस
नेहरा ने अपने संन्यास की घोषणा करने के बाद कहा कि अपने क्रिकेट की शुरूआत करने वाले फिरोज शाह कोटला से लेकर 20 साल के करियर में खेले गए अंतर्राष्ट्रीय मैच तक उनकी जिंदगी में सब रोमांचक रहा.
नेहरा को आज भी 2003 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच बहुत खटकता है. उनका कहना है कि अगर उनके वश मे होता तो वो जोहानिसबर्ग में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले गए उस दिन को जरूर बदल देते.
भारतीय क्रिकेट में भले ही कई महान गेंदबाज आए और चले गए लेकिन वीरेंद्र सहवाग के शब्दों में ‘नेहरा जी‘ को उनकी जीवटता, अनुशासन और कमबैक मैन के रूप में हमेशा याद किया जाएगा.
आसीष नेहरा उन सभी युवाओं के लिए प्रेरणा स्वरूप हैं जो मुश्किलों के आगे घुटने टेक देते हैं.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus