Elphinston Railway Bridge: जानिए, एक दशक में कितने लोगों ने भगदड़ में गवांई अपनी जान

Elphinston Railway Bridge

Elphinston Railway Bridge:  एक दशक में हुए 10 बड़े हादसे

Elphinston Railway Bridge: हमारे देश में भगदड़ से लोगों की जान जाना कोई नई बात नहीं रह गई है.

हाल ही में शुक्रवार सुबह 10.30 पर मुंबई के Elphinston Railway Bridge पर रेलयात्रियों को एक भयानक हादसे का सामना करना पड़ा है.

जिसमें चोट लगने और दम घुटने से तकरीबन 23 लोगों की मौत हो गई जबकि 37 अन्य घायल हो गए हैं.

Elphinston Railway Bridge

क्या है हादसे की वजह?
बताया जा रहा है मुंबई में सुबह हो रही तेज बारिश में भीगने से बचने के लिए लोग 106 साल पुराने स्टेशन की तरफ जा रहे फुटओवर ब्रिज पर चढ़ गए.
तभी पुल पर फिसलन की वजह से एक व्यक्ति का पैर फिसला और वो गिर गया. जिसके बाद पुल पर धक्का मुक्की का सिलसिला शुरू हो गया और भगदड़ मच गई.
इस हादसे के बाद स्थानीय, राज्य और केंद्र सरकार की शाखाएं ट्वीट करने, मीडिया को साउंड बाईट्स देने, तात्कालिक समाधान बताने और जांच के आदेश देने में लग गई. जैसा कि हर हादसे के बाद होता है.
आइए हम आपको बताते हैं कि पिछले एक दशक में ऐसे कितने मौके आए हैं जब लोग भगदड़ की भेंठ चढ़ गए और अपनी जान गवां बैठे.
1) 15 अक्टूबर 2016: बनारस में जय गुरूदेव के समामग में आए उनके अनुयायियों के बीच मची इस भगदड़ में 24 लोगों ने अपनी जान गंवाई. यह भगदड़ पुल टूटने की अफवाह की वजह से हुई थी.
2) 14 जुलाई 2015 : गोदवारी नदी के तट पर पावन पर्व महापुष्कारम पर नहान के लिए जु़टे श्राद्धालुओं के बीच भगदड़ मचने से 29 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 60 लोग जख्मी हो गए थे. कुछ लोग जुते को लेकर भागने की कोशिश में लगे थे जिसके बाद यह हादसा हुआ.
3) 13 अक्टूबर 2013: मध्य प्रदेश में हुई इस भगदड़ में 113 लोगों की जान गई थी. मंदिर में पुल पर जमा हुई भीड़ की वजह से यहां भगदड़ मच गई थी. इस हादसे में 100 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए थे.
4) 04 मार्च 2013: उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ के मंदिर में मची भगदड़ में 63 लोगों की जान चली गई थी.

Elphinston Railway Bridge

5) 11 फरवरी 2013: 2013 के इलाहाबाद कुंभ मेला में आए श्रद्धालुओं की रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ से 37 लोगों की जानें चली गई थी. कुंभ मेला का हिंदु भक्तों में बहुत बड़ी आस्था होती है. इसी अवसर पर लाखों की संख्या में देश भर से लोग इलाहाबाद पहुंचे थे.
6) 19 नवंबर 2012: बिहार में मनाए जाने वाले छट पूजा के त्यौहार पर 2012 में गंगा के किनारे मची भगदड़ से 18 लोगों ने अपना जान गवां दी.
7) 14 जनवरी 2011: केरल के सबरीमाला ने मक्र ज्योति त्यौहार के दिन 104 भक्तों ने भगदड़ में अपनी जान खो दी
8) 16 मई 2010: दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हुई इस भगदड़ में 2 लोगों की जान गई. दो ट्रेनों के आखिरी समय में बदले प्लेटफॉर्म की वजह से यह भगदड़ हुई थी. 15 लोग इस भगदड़ में गंभीर रूप से घायल हो गए थे.
9) 03 अगस्त 2008: बिलासपुर के नैना देवी मंदिर के पास मची भगदड़ से 150 लोगों की जान चली गई. यह भगदड़ भूसखलन की अफवाह फैलने से हुई थी.
10) 25 जनवरी 2005: महाराष्ट्र के सतारा जिले का मांधार मंदिर श्रद्धालओं के लिए बहुत अहम है. साल 2005 में यहां मची भगदड़ में 340 लोगों ने अपनी जान गवां दी. हादसे का कारण माता के मंदिर पर चढ़ाए गए नरियलों की वजह से सीढ़ियों पर फिसलन बताया गया था. जिसपर फिसलने की वजह से यह भगदड़ मच गई थी.