Home टेक न्यूज़ Google ने पेश किया मशीन लर्निंग एजुकेशन प्रोग्राम, जानिए क्या है इसमें...

Google ने पेश किया मशीन लर्निंग एजुकेशन प्रोग्राम, जानिए क्या है इसमें खास

SHARE
Google Machine Learning
file photo

Google Machine Learning : Google ने बनाया मशीन लर्निंग पोर्टल, इसकी मदद से ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का उपयोग करना होगा आसान

 

Google Machine Learning : गूगल ने एक बार फिर लोगों की जिंदगी को और आसान बना दिया है, इस बार कंपनी ने अपने यूजर्स के लिए मशीन लर्निंग एजुकेशन प्रोग्राम लॉन्च किया है.

गौरतलब है कि टेक्नोलॉजी ने ऑर्टिफिशियल इंजेलीजेंस और मशीन लर्निंग के क्षेत्र में काफी तरक्की कर ली है और आने वाले समय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) रोजमर्रा की जिंदगी में काफी अहम भूमिका भी निभाने वाला है.

यही मुख्य वजह है कि Google ने अपनी नई पेशकश से लोगों को मशीनी जानकारी के बारे में शिक्षित करने का बीड़ा उठाया है. जिसके अंतगर्त मशीनों पर आसानी से काम करना सिखाया जाएगा. खास बात यह है कि गूगल की ये लर्निंग प्रणाली की शिक्षा फ्री में लोगों के लिए उपलब्ध रहेगी.
यह भी पढ़ें – Google IT Course : गूगल के इस कोर्स को पूरा करने पर 8 महीने में मिलेगी दिग्गज IT कंपनियों में नौकरी
ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मशीन लर्निंग की जानकारी सभी के साथ साझा करने के लिए गूगल ने “Learn with Google AI”की नई वेबसाइट शुरू की है, जिसकी मदद से लर्निंग कॉन्सेप्ट को समझा जा सकता है कि यह कैसे काम करती है.
साथ ही गूगल ने मशीन लर्निंग को और करीबी से सिखाने के लिए क्रैश कोर्स की भी शुरूआत की है.
आपको बता दें कि इस कोर्स को विशेषज्ञों ने बहुत ही गूढ़ता और आसान भाषा के साथ डिजाइन किया है. ताकि सीखने वाले को आसानी से समझ आए और जटिल से जटिल समस्याओं को सुलझाने में दिक्कतों का सामना न करना पड़े.
बता दें कि इंजीनियरिंग एजुकेशन टीम द्वारा तैयार किए गए इस कोर्स को अब तक 18 हजार से अधिक लोग एनरोल कर चुके हैं.
इस वजह से है बेहद खास
इस प्रणाली के बारे में गूगल के एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी ने इस कोर्स को सभी को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है, जो यह समझाने में मदद करेगा कि एआई चुनौतीपूर्ण समस्याओं का समाधान करने में कैसे सक्षम है.
यह भी पढ़ें – Google Symptom Search : अब बीमार रहने पर भी गूगल देगा आपका पूरा साथ , जानें कैसे
यही नहीं Google ने इसे सीखने वालों के लिए एक रिसोर्स का निर्माण किया है. जिसमें साइट कोर एमएल अवधारणाओं के बारे में जानकारी देगा और साथ ही मशीन लर्निंग के कौशल को विकसित करेगा तथा होने वाली गलतियों को सुधारने के तरीके भी सुझाएगा.
साथ ही अधिकारी ने एआई तकनीक को मानव विकास में अलग-अलग दृष्टिकोणों और जरूरतों को दिखाए जाने की भी बात कही और बताया कि इस प्रणाली को सभी के लिए मुफ्त में उतारा गया है.
इसमें ऑनलाइन कोर्स की सुविधा है, और फीचर वीडियो के जरिए इस कोर्स को सीखने में 15 घंटे लगेंगे, और 40 अलग-अलग प्रेक्टिस टेस्ट से इसको सिखाया जाएगा.
गौरतलब है कि ये प्रेक्टिस टेस्ट इंटरैक्टिव विज़ुअलाइज़ेशन, मॉड्यूल और लर्निंग वीडियोज की एक सम्मलित सीरीज है.