Home गांव चौपाल Rajasthan Mini Israel: खेती से करोड़ों रुपए कमाने हैं तो, अपनाए इस...

Rajasthan Mini Israel: खेती से करोड़ों रुपए कमाने हैं तो, अपनाए इस गांव का तरीका

SHARE
rajasthan mini israel

Rajasthan Mini Israel: किसान खेमाराम चौधरी का खेती से सालाना टर्नअोवर 1 करोड़ से ज्यादा

Rajasthan Mini Israel: दुनिया में इजरायल जैसे कुछ ही देश हैं जहां किसानों की हालत दयनीय नहीं है. खेती किसानी में इस्तेमाल होने वाले बेहतरीन उपकरण और फसलों की उम्दा नीति के मामले में इजरायल को दुनिया का सबसे हाईटेक देश माना जाता है.

इजरायल ने रेगिस्तान में ओस से सिंचाई, दीवारों पर गेहूंधान उगाने जैसे खेती में कई ऐसे कारनामे किए हैं जो बाकि देशों के किसानों के लिए एक सपना सा है.

rajasthan mini israel

गुड़ा किमावतान नहीं ‘मिनी इजरायल’
Rajasthan Mini Israel: दिल्ली से करीब 300 किलोमीटर दूर राजस्थान के जयपुर जिले में एक गांव है गुड़ा कुमावतान जहां किसान खेमाराम चौधरी (45 वर्ष) रहते हैं.
खेमाराम ने खेती में अपने तकनीक और ज्ञान का ऐसा तालमेल भिड़ाया कि वो आज देश के लाखों किसानों के लिए एक उदाहरण बन गए हैं.
दरअसल खेमाराम चौधरी को सरकार की तरफ से कुछ साल पहले इजरायल जाने का मौका मिला था. जहां उन्होंने उस देश के किसानों से खेती के अत्याधुनिक उपकरणों और तौर- तरीकों के बारे में जानकारी ली.
इजरायल से वापस आने के बाद खेमाराम ने भी अपने खेतों में उसी तकनीक का इस्तेमाल किया और आज उनका सालाना मुनाफा करोडों मे पहुंच गया है.
आपतो बता दें कि खेमाराम चौधरी अपने चार हजार वर्गमीटर में संरक्षित खेती (पॉली हाउस) का संचालन करते हैं. खेमाराम बताते हैं कि उन्होंने अपना पहला पॉली हाउस सरकार की तरफ से मिली सब्सिडी से लगाया है.

यह भी पढ़ें- Chennai Community Fridge: ईसा फातिमा का ये फ्रिज गरीबों को मुफ्त दे रहा खाना और कपड़ा

उन्होंने जनकारी दी कि एक पॉली हाउस को लगाने में कुल 33 लाख रुपए का खर्चा आया था, जिसमें 9 लाख उन्होंने बैंक से लोन लेकर लगाया और बाकी सरकारी सब्सिडी मिल गयी थी.
उनके द्वारा लगाए गए पॉली हाउस से मिलने वाले मुनाफे को देखकर आसपास के गांवों में रहने वाले किसानों ने भी अपने खेतों में इस का संचालन शुरू कर दिया है.
इसी कारण अब ये क्षेत्र मिनी इजरायल के नाम से जाना जाने लगा है.
बिजली की समस्या का किया समाधान
Rajasthan Mini Israel: खेमाराम बताते हैं कि शुरूआत में खेती करने के दौरान उनकी सबसे बड़ी समस्या बिजली बनी हुई थी. जिससे निपटने के लिए उन्होंने सरकारी सब्सिडी की मदद से 15 वॉट का सोलर पैनल लगवाया और खुद से भी 25 वाट का लगवाया.
HIV TEST : 10 सेकेंड में स्मार्टफोन बताएगा HIV है या नहीं
सोलर पैनल लग जाने के बाद वो बताते हैं कि अब सही समय पर उनकी फसल को पानी मिल जाता है और फैन पैड भी इसी की मदद चलता है. उन्होंने कहा कि सोलर पैनल लगाने में पैसा तो एक बार खर्च हुआ लेकिन पैदावार कई गुना बढ़ी गई, जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा मिल रहा है.
rajasthan mini israel
टूरिस्ट सपॉट बन गया है ‘मिनी इजरायल’
Rajasthan Mini Israel: राजस्थान के इस मिनी इजरायल की चर्चा पूरे राज्य के साथ-साथ अब देश के बाकी प्रदेशों में भी होने लगी है.
खेती के इस बेहतरीन मॉडल को देखने के लिए यहाँ देश के कोने-कोने से किसान हर दिन आते रहते हैं.
खेमाराम कहते हैं कि उन्हें आज इस बात की बेहद खुशी है कि कम से कम हमारी देखादेखी ही सही पर किसानों ने खेती के ढंग में बदलाव लाना तो शुरू किया .
खेमाराम ने कहा कि इजरायल मॉडल की शुरुआत राजस्थान में सबसे पहले उन्होंने ही की थी, लेकिन आज ये संख्या सैकड़ों में पहुंच गयी है.

साभार- गांव कनेक्शन

For More Breaking News In Hindi and Positive News India Follow Us On Facebook, Twitter, Instagram, and Google Plus