Home विदेश पाकिस्तान की संसद में हुआ पहली हिंदू महिला का प्रवेश, चुनी गई...

पाकिस्तान की संसद में हुआ पहली हिंदू महिला का प्रवेश, चुनी गई सीनेटर

SHARE
Hindu Women In Pakistan Senate
कृष्णा कुमारी

Hindu Women In Pakistan Senate : तालिबानी मौलाना को हराकार दर्ज की जीत

Hindu Women In Pakistan Senate : भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने पहली बार किसी हिंदू महिला को सीनेटर बनाकर एक नया इतिहास रच दिया है.

मुस्लिम बहुल्य देश में 39 वर्षीय कृष्णा कुमारी कोलही को पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) द्वारा सिंध विधानसभा के एक अल्पसंख्यक संसदीय सीट से नामित किया गया था.
पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कृष्णा ने अपनी सीट पर विपक्ष में खड़े हुए तालिबानी मौलाना को बड़े अंतर से हराते हुए यह जीत दर्ज की है.
खास बात यह है कि पाकिस्तान की राजनीति में गैर मुस्लिम सीनेटर को नामित करने की शुरूआत सबसे पहले पीपीपी ने ही की है. इससे पहले पीपीपी ने 2009 में एक दलित डॉ. खाटूमल जीवन और 2015 में इंजीनियर ज्ञानीचंद को सीनेटर के लिए नामांकित कर चुकी है.
यह भी पढ़ें – जानिए क्या है ये पेरिस समझौता, और क्यों ट्रंप लगा रहे भारत और चीन पर इसमें गड़बड़ी के आरोप
स्वतंत्रता सेनानी परिवार से है नाता
कृष्णा कोहली सिंध प्रांत में थार के सुदूर नगरपारकर जिले की निवासी है और स्वतंत्रता सेनानी रूपलो कोहली के परिवार से ताल्लुक रखती हैं.
कृष्णा के पिता एक छोटे किसान थे जिस वजह से उनका बचपन बेहद गरीबी में बीता. कृष्णा जब 16 साल की उम्र में अपनी 9 वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी कर रही थी तभी उनकी शादी लालचंद से कर दी गई.
लेकिन पढ़ाई के प्रति समर्पित कृष्णा ने शादी के बाद भी अपनी शिक्षा जारी रखते हुए 2013 में सिंध यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की.
इसके बाद कृष्णा अपने भाई के साथ पीपीपी पार्टी में ऐक्टिविस्ट के तौर पर शामिल हुईं और थार के पिछड़े और गरीब लोगों के अधिकारों की नई आवाज बनी.