दिल्लीवासियों के लिए केजरीवाल सरकार ने शुरू करी ‘मोबाइल मेडिकल सेवा’

Delhi CM Kejriwal Launch Mobile Medical Service

Delhi CM Kejriwal Launch Mobile Medical Service : चिकित्सक,नर्स से लेकर सभी तरह की सुविधा से लैस रहेगी वैन

Delhi CM Kejriwal Launch Mobile Medical Service : मोहल्ला क्लिनिक में दुनिया भर से मिली प्रशंसा के बाद कल दिल्लीवासियों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए केजरीवाल सरकार ने एक और सराहनीय कदम उठाया है.

बता दें कि कल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में रहने वालों के लिए मोबाइल मेडिकल सेवा की शुरूआत करी है.
शुक्रवार को उन्होंने औपचारिक तौर पर अपने सरकारी आवास से एक मोबाइल मेडिकल वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.
बतौर सरकार इस अभियान का एजेंडा दिल्ली शहर में रह रहे हर वर्ग और आयु के वंचित लोगों तक प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा पहुंचाना है.
पढ़ें – पीएम का धांसु दिवाली गिफ्ट, सिर्फ 59 मिनट मे छोटे कारोबारी ले सकेंगे 1 करोड़ का लोन
जानकारी के लिए बता दें कि इस वैन में नैदानिक, प्रयोगशाला, मेडिकल जांच, मशविरा और भी कई तरह की सेवाएं मौजूद रहेंगी.
इसके अलावा इसमें एक चिकित्सक,नर्स और मेडिकल टेक्नोलाजिस्ट भी तैनात रहेंगे जो किसी भी परिस्थिति में मरीज को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराएंगे.

http://

शुरूआत में 1 लाख लोगों तक पहुंच का लक्ष्य
गौरतलब है कि दिल्ली सरकार इस सेवा को मेडिकल शिविर से भी जोडेगी. फिलहाल ये वैन अभी अलशिफा मल्टीस्पेशिएलिटी अस्पताल जो कि ओखला में है उसके 10-15 किलोमीटर के दायरे में आने वाले इलाकों में घूमेगी.
जहां उसने कम से कम 1 लाख लोगों तक अपनी इस सेवा को पहुंचाने का लक्ष्य रखा है.
इस बात की जानकारी आम आदमी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर भी दी है.
बजट में दिया था स्वास्थ्य सेवा पर विशेष ध्यान
गौरतलब है कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली वालों के स्वास्थ्य सेवा पर विशेष ध्यान देना का प्रावधान अपने इस बार के बजट में भी किया था.
इसके लिए बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र पर कुल 6729 करोड रुपए खर्च करने की बात कही गई थी .
पढ़ें – नौसेना में अब जल्द ही ‘नाविक’ पदों पर भी होगी महिलाओं की भर्ती
उस समय मनीण सिसोदिया ने इस मामले में बताया था कि 403 करोड रुपए मोहल्ला क्लिनिक और 20 करोड रुपए की राशि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में जांच के लिए आवंटित की गई है.
वहीं नए अस्पतालों के निर्माण और मौजूदा के नवीकरण के लिए 450 करोड़ रुपए और 48 सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में शल्य चिकित्सा के लिए 50 करोड़ रुपए का अतिरिक्त प्रावधान भी किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here