Kerala Trauma Policy : केरल में सड़क दुर्घटना पीड़ितों को शुरूआती 48 घंटे मिलेगा मुफ्त इलाज

kerala trauma policy
demo pic

Kerala Trauma Policy : प्राइवेट अस्पतालों में भी सुविधा लागू

Kerala Trauma Policy : केरल सरकार ने अपने राज्य में सड़क दुर्घटनाओं में होने वाले घायलों के इलाज के लिए एक बेहतरीन कदम उठाया है.

दरअसल सरकार ने एक नई ट्रामा नीति बनाई है जिसके तहत अब से केरल के सड़क हादसों में घायल व्यक्ति के शुरूआत के 48 घंटे का इलाज का खर्चा राज्य सरकार खुद उठाएगी.
सरकार का ये फैसला उन लोगों के लिए एक बड़ी राहत है जो पैसों के अभाव में बेहतरीन चिकित्सा ना मिल पाने के कारण मर जाते हैं.
इसके साथ ही साथ ही इस नीति में यह भी कहा गया है कि अब से राज्य का कोई भी अस्पताल किसी दुर्घटना पीड़ित के इलाज करने के लिए मना नहीं कर सकता है.
यह भी पढ़ें – Kerala Startup Leave : केरल के शिक्षकों को खुद का स्टार्टअप शुरू करने के लिए मिलेगी छुट्टी
मुख्यमंत्री पीनाराय विजयन ने अपनी अध्यक्षता वाली एक उच्च स्तरीय मीटिंग में इस बात का निर्णय लिया है कि अब से सरकार घायलों के प्रारंभिक 48 घंटों के भीतर के आपातकालीन उपचार के लिए राशि देगी.
इसके अलावा मुख्यमंत्री ने प्राइवेट अस्पतालों को भी सड़क हादसों में घायल लोगों के शुरूआती इलाज के लिए सड़क सुरक्षा कोष से पैसे लेने का निर्देश दिया है.
वहीं उन्होंने यह भी भरोसा दिलाया कि दुर्घटनाग्रस्त लोगों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने के लिए सभी मेडिकल सुविधाओं से लैस सुपर स्पेशलिटी एम्बुलेंस लॉन्च किया जाएगा. ताकि घायलों के अस्पताल पहुंचने तक भी उनका रास्ते में उपचार किया जा सके.
यह भी पढ़ें – Bharatmala Project : भारत सरकार ने अपनी महत्वकांक्षी हाईवे परियोजना ‘भारतमाला’ को दी मंजूरी
मुख्यमंत्री ने कहा कि एम्बुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए और पास के अस्पतालों का चयन करने के लिए एक अलग सॉफ्टवेयर विकसित किया जाएगा. जिसका संचालन करने के लिए एक केंद्रीकृत कॉल सेंटर भी स्थापित किया जाएगा.
इन सब सुविधाओं को शुरू करने के लिए केरल सरकार केरल रोड सेफ्टी फंड और केरल स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट के सामाजिक दायित्व निधि के तहत बजट आवंटित करेगी.
खबर के मुताबिक इस योजना को बेहतर ढंग से शुरू करने के लिए स्वास्थ्य, गृह, वित्त, परिवहन और सार्वजनिक कार्यों सहित विभिन्न विभागों के सचिवों को जिम्मेदारी सौंप दी गई है.
गौरतलब है कि इस योजना को और सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री विजयन ने विभिन्न बीमा कंपनियों के साथ भी चर्चा की.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus