पीएम का धांसु दिवाली गिफ्ट, सिर्फ 59 मिनट मे छोटे कारोबारी ले सकेंगे 1 करोड़ का लोन

Pm Modi Small & Medium Sector Loan Scheme : ये स्कीम MSME सेक्टर को ताकत देने का काम करेगी.

Pm Modi Small & Medium Sector Loan Scheme : दिलावी से पहले प्रधानमंत्री ने देश के छोटे व मध्यम व्यापारियों को बड़ा तोहफा देने का ऐलान किया है.

तोहफा भी कोई छोटा मोटा नहीं बल्कि 1 करोड़ का वो भी 1 घंटे के अंदर, हो सकता है आपकों हमारी बात थोड़ी अटपटी लगें मगर ये खबर 100 आने सच है.
दरअसल प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों(MSME) के लिए 59 मिनट में 1 करोड़ का लोन देने की घोषणा की है.
इसके लिए उन्होंने बकाएदा एक ऑनलाइन पोर्टल भी लांच किया है जिसकी मदद से कोई भी व्यापारी आसानी से 1 घंटे से भी कम समय में लोन ले सकता है.
बता दें कि दिल्ली के विज्ञान भवन में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) के लिए सरकार की सपॉर्ट ऐंड आउटरीच इनिशटिव के लॉन्च इंवेट के दौरान पीएम ने ये सभी घोषणाएं करी .

http://

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार 12 ऐसी नीतियों को लागू कर रही है जो MSME सेक्टर को ताकत देने का काम करेगी.
पढ़ें – RBI और सरकार आए आमने – सामने, इतिहास में पहली बार हुआ धारा 7 का इस्तेमाल
कैसे और कितना देना होगा ब्याज
सबसे पहले लोन लेने के लिए आपके छोटा या मध्यम उद्योग का जीएसटी नंबर होना चाहिए. पीएम के मुताबिक जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर वाले को पहली बार लोन लेने पर ब्याज दर में 2 प्रतिशत की छूट भी दी जाएगी.
इसके अलावा जो MSME पहली बार लोन ले रहा उसकी 3 प्रतिशत की दर से ब्याज वसूला जाएगा. जबकि इसके बाद वाले से 5 प्रतिशत.

http://

MSME बिजनेस को पीएम ने सराहा
MSME सेक्टर की तारीफ करते हुए पीएम मोदीने कहा कि ये भारतीय अर्थव्यवस्था का पावर हाउस बन चुका है.
बता दें कि हमारे देश में 6.3 करोड़ MSME अद्योग काम कर रहे हैं जिनमें 11.1 करोड़ लोगों का रोजगार चल रहा है.
वहीं देश की GDP में भी इस सेक्टर का 30 प्रतिशत तक का योगदान है.इसके अलावा देश के कुल निर्यात में करीब 40 प्रतिशत हिस्सेदारी भी इसी सेक्टर की है.
ईज ऑफ डूइंग बिजनस रैकिंग से गदगद पीएम
प्रधानमंत्री ने ईज ऑफ डूइंग रैंकिंग में भारत की लंबी छलांग को अविश्वसनीय बताया. उन्होंने कहा कि हमने वो कर दिखाया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता, अब वो दिन दूर नहीं जब इस रैंकिंग में भारत टॉप 50 के अंदर हो.
बता दें कि हाल में जारी हुई विश्व बैंक द्वारा जारी ईज ऑफ डूइंग बिजनस रैकिंग 2018 में भारत 100 वें नंबर से 77वें स्थान पर जा पहुंचा है.
पढ़ें – भारत में कोराबार हुआ आसान, विश्व बैंक ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ रैकिंग 100 से हुई 77वीं
MSME व्यापारियों को देंगे बड़ी राहत
प्रधानमंत्री ने कारोबार को सुगम बनाने के लिए व्यापारियों के लिए कई पुछले नियमों ढील दी है या तो उन्में परिवर्तन किया है.

http://

जिसमें कर अनुपालन और पर्यावरण मंजूरी को आसान बनाना, आठ श्रम दस केंद्रीय कानूनों पर एमएसएमई कारोबारियों को सिर्फ एक रिटर्न भरना जैसे अहम फैसले शामिल हैं.
यही नहीं उन्होनें इन सबके क्रियावन के लिए तकनीकी उन्नयन के 20 हब और 100 टूल रूम बनाने की भी बात कही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here