अब रेलवे बताएगा वेटिंग टिकट कंफर्म होने की कितनी है संभावनाएं, IRCTC की नई सेवा

Railway Waiting Ticket Confirmation Prediction
demo pic

Railway Waiting Ticket Confirmation Prediction : वेटिंग टिकट बुक कराते समय ही यात्रियों को चल जाएगा पता 

Railway Waiting Ticket Confirmation Prediction : भारतीय रेल ने वेटिंग टिकट प्राप्त मुसाफिरों के लिए एक नई व्यवस्था की शुरूआत की है.

IRCTC की द्वारा शुरू की गई इस सेवा की मदद से अब आप वेटिंग टिकट बुक कराने के समय ही ये जान सकेंगे कि आपके टिकट कंफर्म होने की कितनी संभावनाएं हैं.
दरअसर अाममून यह देखा जाता है कि वेटिंग टिकट वाले यात्रियों के चार्ट बनने तक सीट कंफर्म को लेकर चिंता बनी रहती थी.
वहीं चार्ट बनने के बाद जिसका टिकट कंफर्म हो गया उसकी तो बल्ले बल्ले हो जती है मगर जिसकी नहीं हो पाती उसे अपने पूरे सफर में धक्के खाने पड़ जाते हैं.
यह भी पढ़ें – रेलवे में अनुकंपा नियुक्ति के लिए न्यूनतम योग्यता की बाध्यता खत्म
यात्रियों की इसी परेशानी को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने इस नई सुविधा की शुरूआत IRCTC की वेबसाइट पर आज मध्यरात्रि से शुरू कर दी है.
इसके बाद अब से कोई भी यात्री अपने वेटिंग टिकट के कंफर्म होने की संभावनाओं की जानकारी हासिल कर सकेगा.
बता दें कि इस नई सेवा को सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉर्मेशन सिस्टम्स (सीआरआईएस) द्वारा विकसित नये एल्गोरिदम के आधार पर तैयार किया गया है.
इस बारे में रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि वेटिंग टिकट की सूची के बारे में अनुमान लगाने वाले इस नए फीचर के अनुसार बुकिंग ट्रेंड के आधार पर कोई भी इस बात का पता लगा सकता है कि प्रतीक्षा सूची वाले या आरएसी टिकट के कन्फर्म होने की कितनी संभावना है.
उन्होंने कहा कि इसके लिए हम पहली बार अपने पैसेंजर ऑपरेशन और बुकिंग पैटर्न का डेटा माइन करेंगे. यहां आपको बता दें कि डेटा माइनिंग का मतलब पुराने पुराने आकड़ों के संग्रह का विश्लेषण करके नई सूचना को जुटाने की प्रक्रिया को डेटा माइनिंग कहते हैं.
जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह सुझाव सबसे पहले खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दिया था. उन्होंने इसके लिए बकाएदा आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर इस को प्रक्रिया पूरी करने के लिये एक साल का वक्त दिया था.
यह भी पढें – IRCTC की इस नई सुविधा से ट्रेन टिकट बुक कराना हुआ और आसान
इसके अलावा अब रेलवे ने यह भी फैसला किया है कि वो अब स्टेशनों पर ट्रेन के लेट होने का कारणों को वीडियो के जरिए यात्रियों को बताएगा.
रेलवे के इस नए निर्णय में वो 1 मिनट का वीडियो मैसेज सक्रीन पर प्रदर्शित करेगा जिसमें वो ट्रेन के लेट होने का कारण और यात्रियों से धैर्य रखने की अपील करेगा.
इसके पीछे रेलवे का मकसद ट्रेनों की लेटलतीफी को लेकर यात्रियों के गुस्से को शांत करना होगा.