UPI 2.0 India Launched : खास फीचर्स और सिक्योरिटी के साथ लॉन्च हुआ UPI का 2.0 वर्जन

UPI 2.0 India Launched

UPI 2.0 India Launched : कई बेहतर सुविधाओं से लैस है ये नया अपडेटेड वर्जन

UPI 2.0 India Launched : लंबे इंतजार के बाद नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के अपडेटेड वर्जन को पेश कर दिया है.
इसका शुभारंभ मुंबई में भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल समेत भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार और इंफोसिस के गैर-कार्यकारी चेयरमैन नंदन निलेकणी ने किया.
बता दें कि यूपीआई का अपडेटेड वर्जन को 2.0 के नाम से लॉन्च किया गया है, ऐसा माना जा रहा है कि ये डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए यह सरकार का बड़ा कदम साबित होगा.
वहीं इससे पहले के मुकाबले  कई अधिक तेजी और सुरक्षा के साथ ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में मदद मिलेगी.आइए जानते हैं यूपीआई 2.0 के अपडेटेड फीचर के बारे में…
पढ़ें – इस तरह मोबाइल और डेस्कटॉप में ऑफ करें गूगल की लोकेशन ट्रैकिंग
ओवर-ड्राफ्ट अकाउंट हो सकेगा लिंक
इस 2.0 वर्जन से यूजर अपने ओवर ड्राफ्ट अकाउंट को यूपीआई से लिंक कर सकेगा. अकाउंट को लिंक करने के लिए एक डिजिटल चैनल उपलब्ध कराया जाएगा जिसकी मदद से ओवरड्राफ्ट अकाउंट को यूपीआई से लिंक कर दिया जाएगा. इसके बाद आप ट्रांजेक्शन अधिक तेजी और सरलता से कर पाएंगे.
वन टाइम मेनडेट की सुविधा
इसमें मैनडेट का फीचर भी जोड़ा गया है जिसकी मदद से ग्राहक पहले ही किसी भी ट्रांजेक्शन को ऑथराइज कर सकते हैं. ऑथराइज के बाद ही पेमेंट मर्चेंट के अकाउंट में क्रेडिट की जाएगी. यह सुविधा आम लोगों के लिए भी उपलब्ध है.
ई-मेल पर मिलेगा इनवॉयस
एनपीसीआई के मुताबिक ग्राहकों के लिए ई-मेल पर इनवॉयस की सुविधा को भी जोड़ा गया है. इससे ग्राहकों को पेमेंट करने पर वेरिफाई करने में आसानी होगी और उनको पता लग सकेगा कि सही व्यक्ति को पेमेंट किया गया है या नहीं.
साइन्ड इंटेंट एंड क्यूआर फीचर
साइन्ड इंटेंट एंड QR फीचर को भी इसमें एड किया गया है जिसकी मदद से क्यूआर कोड स्कैन करके पेमेंट कर सकते हैं और मर्चेंट की ऑथेंटिसिटी को वेरिफाई किया जा सकता है.
बता दें कि इस फीचर से ग्राहक को पता चल जाएगा कि मर्चेंट यूपीआई की तरफ से पेमेंट लेने के लिए वेरिफाइड है या नहीं.
यदि पेमेंट रिसीवर सिक्योर्ड नहीं होगा तो इस स्थिति में ग्राहक को इससे संबंधित नोटिफिकेशन भेजकर सूचना प्राप्त हो जाएगी.
पढ़ें – स्मार्टफोन में इंस्टॉल है ये ऐप तो इसे तुरंत करें डिलीट, गूगल ने खुद लिस्ट जारी कर बताया
कई बैंक आए साथ
यूपीआई के अपडेटेड वर्जन 2.0 में SBI, HDFC, Axis, ICICI, IDBI, RBL, YES, KOTAK, IndusInd, Federal और HSBC ने हाथ मिलाया है.