Benefits Of Tea : रोजाना चाय पीने वाले होते हैं काम को लेकर अधिक सक्रिय और क्रिएटिव – अध्ययन

Benefits Of Tea
demo pic(bt)

Benefits Of Tea : चीन के विश्विद्यालय ने किया शोध

Benefits Of Tea : भारत समेत पूरी दुनिया में लोगों के बीच चाय पीने का चलन किस कदर हावि है इस बात से हम सब वाकिफ हैं.

अकेले सिर्फ अपने देश की ही बात करे तो हमारे यहां मेहमानो के स्वागत से लेकर पूरे दिन कि दिनचर्या तक हम सबका सबसे पसंदीदा पेय कोई है तो वो चाय ही है.
हमने अपने दिलो दिमाग में चाय के सेवन को इस कदर बढ़ा रखा है कि अब वो हमारे जीवन की बहुमूल्य आदतों में शुमार हो चुका है.
अगर आप भी हमारी इन बातों से सहमत हैं और आपके जीवने में भी चाय एक अहम जगह रखती है तो आपके लिए यह खबर बड़े काम कि है.
चाय पर किे गए एक नए अध्ययन में यह दावा किया गया है कि चाय पीने से लोगों का उनके काम के प्रति फोकस बढ़ता है और उनकी मानसिक स्पष्टता में भी सुधार होता है जो कि उन्हें और अधिक क्रिएटिव बनाता है.
यह भी पढ़ें – Benefits Of Tulsi : तुलसी धार्मिक रूप से नहीं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी है वरदान, जानिए इसके फायदे
इस वजह से चाय पीना है फायदेमंद
चीन स्थित न्यू पर्किंग विश्वविद्यालय की नई स्टडी में आए निष्कर्षों में यह बात सामने आई है कि चाय में कैफीन और थेनीन जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो दिमाग को अलर्ट रखने और सतर्कता में सुधार के लिए जाने जाते हैं.
अध्ययन के अनुसार एक कप चाय खत्म करने के कुछ पल बाद ही दिमाग के भीतर क्रिएटिव जूसों का प्रवाह महसूस होने लगता है.
बता दें कि इस शोध को पूरा करने के लिए मनोवैज्ञानिकों की एक टीम ने 23 साल की औसत उम्र के 50 छात्रों पर दो अलग-अलग परीक्षण किए.
मॉनिटरिंग प्रक्रिया शुरू होने से पहले आधे छात्रों को एक गिलास पानी दिया गया जबकि दूसरे आधे बच्चों को काली चाय का एक कप दिया गया. फिर इसके बाद उनके क्रिएटिव कौशल का परीक्षण किया गया.
यह भी पढ़ें – Cancer Blood Test : सिर्फ एक ब्लड टेस्ट से की जा सकेगी 8 प्रकार के कैंसर की पहचान
इस तरह किया गया परीक्षण
शेध में छात्रों के अंदर रचनात्मक और क्रिएटिविटी का पता लगाने के लिए इन छात्रों को पहले बिलडिंग ब्लॉकों से कोई आकर्षक और रचनात्मक चीज बनाने के लिए कहा गया. इसके बाद उनकी क्रिएटिवि परखने के लिए उनको एक काल्पनिक फेंसी नूडल रेस्तरां का नाम देने को कहा गया.
निष्कर्ष के रूप में जहां बिलडिंग ब्लॉको के निर्माण के लिए चाय पीने वालों ने औसतन 6.54 अंक अर्जित किए तो वहीं पानी पीने वालों ने औसतन 6.03 अंक कमाए.
इसके अलावा दूसरे टेस्ट में भी चाय पीने वालों ने 4.11 अंक हासिल किए और पानी पीने वालों ने 3.78 स्कोर के खिलाफ औसत अंक अर्जित किए.
रिपोर्ट में कहा गया है इस शोध के आधार पर इंसान के क्रिएटिव और सक्रीयता का दिमाग पर चाय के असर को समझा जा सकता है.
रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि दिमाग की क्रिएटिवी और रचनात्मकता बढ़ाने के लिए कैफीन और थेनीन की भूमिका अहम है.
हालांकि, शोधकर्ताओं ने कहा कि प्रतिभागियों ने अध्ययन में बहुत छोटी मात्रा में चाय का सेवन किया है और इसलिए, लंबे समय तक ऐसा हो यह जरूरी नहीं है.
खैर रिपोर्ट जो भी कहे मगर चाय के शौकिनों के पास आगे से एक और कारण होगा लोगों को बताने के लिए आखिर क्यों चाय की प्याली आपको इतनी प्यारी है.