सावधान! मुंह की साफ सफाई न होने से हो सकता है आपको ये गंभीर रोग

Causes Of Pyria
Causes Of Pyria

Causes Of Pyria : दांतो की सफाई में लापरवाही से होता है पायरिया, जानें क्या है ये रोग और कैसे बरतें सावधानी…

Causes Of Pyria : मुंह में तंबाकू चबाने या अनियमित खानपान के बाद दांतों की ठीक से सफाई ना होने के कारण आए दिन पायरिया की समस्या लोगों में बढ़ती जा रही है.

चिंता की बात तो यह है कि कभी कभी पायरिया की समस्या गंभीर रुप लेकर ओरल कैविटी कैंसर में भी बदल जाती है.
क्या है पायरिया
पायरिया एक सबसे जल्दी होने वाली बीमारी है जो दांतों की सफाई में कमी के कारण होती है. दरअसल हमारे मुंह में लगभग 700 किस्म के बैक्टीरिया मौजूद होते हैं, जिनकी संख्या करोडों में होती है.
ये बैक्टीरिया दांतों और मुंह में होने वाली बीमारियों से लड़ने के लिए कारगार होते हैं. ऐसे में दाँतों के आसपास ठीक से सफाई ना होने से ये बैक्टीरिया मुंह की मांसपेशियों में संक्रमण के जरिए फैलने लगते हैं.
यह संक्रमण कई हेल्थ कारणों से हो सकता है, यही नहीं यह रोग सिर्फ दांतों से जुड़ी समस्याओं तक ही सीमित नहीं रहता. बल्कि मसूड़ों को भी प्रभावित करता है.
वहीं सांसों की बदबू, मसूड़ों में खून और दूसरी तरह की कई परेशानियां भी पायरिया के लक्षण हैं. इसके अलावा इस बीमारी के चलते समय से पहले ही दांतों का गिरना भी होता है.
यह भी पढ़ेंKidney Stone : महिलाओं में बढ़ रहे हैं किडनी स्टोन के मामले, इन लक्षणों को ना करें अनदेखा
पायरिया के लक्षण
पायरिया में सांसो में तेज दुर्गंध आना, मसूडों में सूजन आ जाना और दांतों का कमजोर होकर हिलने लगना इसके बड़े लक्षणों में से हैं.
यही नहीं नियमित आहार और दाँतों में खाने का अटकना, दाँतों का सड़ना, साथ ही दाँतों पर मैल का जमा होना, स्वाद का खराब हो जाना, मुंह में छालों का होना, मसूड़ों से रक्तस्राव, जलन ये सभी पायरिया के लक्षण हैं.
दरअसल गर्म और ज्यादा ठंडा एक साथ खाने-पीने से दांत संवेदनशील हो जाते हैं और यह बर्दास्त के बाहर हो जाता है, और मसूडों से मवाद निकलने लगता है.
पायरिया में बरतें सावधानी
दांत अगर खराब हो जाएं या कुछ भी हल्की सी सिरहन हो तो कहीं और काम में मन ही नहीं लगता. ऐसे में अगर पायरिया के लक्षण हों तो मानो जान ही निकल जाती है.
हालांकि कुछ नियमित आदतें और साफ सफाई बरतने से इस बीमारी से बचा जा सकता है.
रोज रात में खाने के बाद दातों और मुंह की ठीक से सफाई करना और अच्छी तरह से ब्रश करना साथ ही जीभ की सफाई से पायरिया से बचा जा सकता है.
दांतों की सफाई के लिए कठोर ब्रश की बजाय कोमल ब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए. वहीं अगर पायरिया के लक्षण नजर आएं तो जल्द से जल्द डेन्टल चिकित्सक से संपर्क कर गंभीर समस्या से बचा जा सकता है.
यह भी पढ़ें – शरीर पर इन 8 लक्षणों को ना करें अनदेखा, जानें किस बीमारी की तरफ है ये इशारा…
पायरिया का इलाज
दांतों में पायरिया का इलाज काफी आसान है इससे घबराने की जरूरत नहीं है. थोड़ी सी सावधानी से इस बीमारी से बचा जा सकता है. जाहिर है कि आज सबसे ज्यादा लोग इसी बीमारी की चपेट में हैं.
बीमारी के लक्षणों का पता चलते ही तुरंत दंत चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए. यही नहीं घरेलू उपचार और आयुर्वेद से भी इस गंभीर बीमारी को काबू में किया जा सकता है और अपने दांतों को मोती जैसा चमकदार बनाए रखा जा सकता है.