क्या सुबह का नाश्ता करना हम इंसानों के लिए फायदेमंद होता है? जानिए

Importance Of Breakfast Daily
demo pic

Importance Of Breakfast Daily : अधिकतर लोग अपनी सुबह की शुरुआत नाश्ते के साथ ही करते हैं

Importance Of Breakfast Daily :  नाश्ता या सुबह का ब्रेकफ़ास्ट, इसका अर्थ होता है रात भर भूखे रहने के सिलसिले को ब्रेक करना.

हम में से अधिकतर लोग अपनी सुबह की शुरुआत नाश्ते के साथ ही करते हैं. फिर वो पूरी-परांठा हो या आजकल का मॉडर्न नाश्ता सेरेल्स और ओअट्स.
कहा जाता है कि सुबह का नाश्ता शरीर के लिए बहुत ज़रूरी होता है इसलिए हमें बड़ी ही गंभीरता के साथ इसे फॉलो करना चाहिए.
ये इसलिए भी हमारे लिए बहुत ज़रूरी माना गया है क्योंकि इंसान का शरीर रात में संचित ऊर्जा का इस्तेमाल विकास और पुनर्निर्माण में करता है,ऐसे में जायज़ है शरीर को सुबह पोषण की ज़रूरत होगी.
यही वजह है कि ब्रेकफास्ट को इन्सान के दिन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा भी माना जाता है लेकिन अब इस बात पर कुछ लोग संदेह भी जताने लग गए हैं.
पढ़ें – बड़ी खोज : वैज्ञानिकों को इंसान के दिमाग में मिला नया हिस्सा, इस इलाज में मिलेगी मदद
जानिए क्या वाकई सेहतमंद है ब्रेकफास्ट?
सुबह का हेल्दी नाश्ता आपको पूरे दिन तरोताज़ा रखता है लेकिन अब इस बात पर संदेह उठने लगे हैं कि क्या वाकई सुबह का नाश्ता ज़रूरी होता है.
ऐसा इसलिए भी है क्योंकि अब ज्यादातर लोगों में भूखे रहने का चलन बढ़ने लगा है. इसके अलावा बहुत से लोग ब्रेकफास्ट में लिए जाने वाले सेरेल्स को भी नुकसानदायक मानते हैं.

Importance Of Breakfast Daily

शोध में सामने आए नाश्ते की जरूरत
नाश्ते को लेकर तरह-तरह के तर्क-वितर्क सुनकर कोई भी कंफ्यूज हो सकता है. ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि क्या नाश्ता करना फायदेमंद है या नुकसानदायक.
यहाँ सबसे पहले ये जानना ज़रूरी है कि सुबह के नाश्ते को लेकर जो रिसर्च सबसे ज़्यादा होती है वो है इसके मोटापे से ताल्लुक़ की.
BBC पर छपि रिपोर्ट के मुताबिक अमरीका में 50 हज़ार से ज़्यादा लोगों पर हुई रिसर्च में ये बात सामने निकल कर आई कि जो लोग सुबह भारी-भरकम नाश्ता करते हैं, उनका बीएमआई यानी बॉडी मास इंडेक्स संतुलित रहता है.
वहीँ दूसरी तरफ रात में देर से खाना खाने वालों का बीएमआई ज़्यादा निकला. इस रिसर्च को करने वाले रिसर्चर मानते हैं कि नाश्ता करने से इंसान तसल्ली महसूस करता है,आपकी रोज़ाना की कैलोरी की खपत कम होती है.
इससे बाद के खानों को लेकर इंसुलिन की संवेदनशीलता भी बढ़ती है. ये डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए जोखिम भरा हो सकता है.
पढ़ें  दिल की बीमारी को हमेशा के लिए दूर रखती है ये एक एक्सरसाइज, आज ही से करना शुरू कर दें  
क्या ब्रेकफास्ट नहीं करने से कम होता है मोटापा?
हालाँकि इस रिसर्च से ये साफ़ नहीं हो पाया कि क्या वाकई में ब्रेकफास्ट न करने से मोटापा कम होता है या ये महज़ एक इत्तेफाक है?
ऐसे में इस बात को भी सिद्ध करने के लिए रिसर्च की गयी जिसमें ये पता चला कि असल में ब्रेकफास्ट की वजह से लोगों के वज़न कम नहीं हुए हैं. उनकी रोज़मर्रा की आदतों में बदलाव से मोटापा कम हुआ है.
Importance Of Breakfast Daily
demo pic
तो क्या नाश्ता करना नुकसानदायक है?
अब सवाल ये उठता है कि अगर नाश्ता करना फायदेमंद नहीं है तो क्या ये नुकसानदायक है. तो हम आपको बता दें कि इस बात को साबित करने के लिए की गई एक रिसर्च के मुताबिक नाश्ते के बारे में अलग-अलग राय हैं.
लेकिन सुबह का नाश्ता तो स्किप करना ही नहीं चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि सुबह का नाश्ता असल में हमारे शरीर के मीटर को चालू करने के लिए बहुत अहम है.
इसके अलावा यहाँ ये भी जान लीजिये कि सुबह के नाश्ते का ताल्लुक़ सिर्फ़ शरीर के वज़न से ही नहीं होता है बल्कि ऐसा देखा गया है कि नाश्ता छोड़ने से दिल की बीमारियों के होने की आशंका 27 प्रतिशत बढ़ जाती है.
पढ़ें – वैज्ञानिकों ने माना, ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए नीली रोशनी बनेगी चमत्कार
वहीं अगर आप सुबह नियमित रूप से ब्रेकफास्ट छोड़ते हैं तो आपको डायबिटीज होने की आशंका 21 और 20 फ़ीसद आशंका दूसरी बीमारियों की हो जाती है.
यानि कि सरल शब्दों में कहें तो नाश्ते में इंसान की सेहत का खजाना छुपा हुआ है. जो लोग सेरेल्स यानी ओट्स वग़ैरह खाते हैं, उन्हें इनके ज़रिए विटामिन, आयरन और कैल्शियम मिलते हैं, जो सेहत के लिए अच्छे माने जाते हैं.
सुबह का नाश्ता दिमाग के सही ढंग से चलने में भी काफी कारगर होता है. सिर्फ इतना ही नहीं सुबह नाश्ता करने वालों की याददाश्त भी अच्छी होती है, ऐसा एक रिसर्च में पाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here