Portable 3D Skin Printer : 2 मिनट से कम समय में गहरे घावों को भरेगा 3डी स्किन प्रिंटर

Portable 3D Skin Printer

Portable 3D Skin Printer : 2 मिनट में शरीर पर लगे गहरे घावों को करेगा ठीक

Portable 3D Skin Printer : टेक्नोलॉजी में एक और बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के वैज्ञानिकों ने एक पोर्टेबल 3डी स्किन प्रिंटर बनाया है.

उनका दावा है कि यह दुनिया का पहला ऐसा डिवाइस है जो 2 मिनट या उससे भी कम समय में टिश्यू शीट बनाकर घावों को भरकर ठीक कर देगा.
रिसर्च संसथान के पीएचडी छात्र नेविद हाकिमी ने बताया कि इस 3डी स्किन प्रिंटर को प्रोफेसर एक्‍सेल ग्‍वेंथर की देखरेख में बनाया गया है.
बता दें कि शोधकर्ताओं द्वारा बनाया गया ये प्रिंटर चोट या घाव होने पर त्‍वचा को तीन लेयर्स में भरने में कारगार है.
इसकी मदद से गहरे त्वचा के घाव वाले मरीजों के लिए और त्वचा की तीनों परतों में एपिडर्मिस, डरर्मिस और हाइपोडर्मिस जो बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी हों उन्हें हील किया जा सकता है.
य़ह भी पढ़ें – Obesity Reason : इन पांच कारणों से बढ़ता है शरीर में मोटापा, जानें क्या कहती है शोध
दरअसल अभी शरीर की त्वचा के जख़्मों को भरने के लिए जिस मेडिकल तकनीक का उपयोग किया जाता है उसे स्प्लिट मोटाई त्वचा ग्राफ्टिंग कहा जाता है, इसकी सहायता से बड़े घावों का इलाज किया जाता है, जिसमें घाव कई बार खुले रह जाते हैं और बाद में कई खतरनाक परिणाम देखने को मिलते हैं.
हालांकि बड़ी संख्या में टिश्यू इंजीनियर त्वचा के विकल्प मौजूद हैं लेकिन फिर भी उन्हें व्यापक रुप से निदान के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता है. इसलिए शोधकर्ताओं ने व्यापक रुप से और सुरक्षित तौर पर घावों को भरने के लिए इस डिवाइस का अविष्कार किया है.
ग्वेन्थर इस डिवाइस के बारे में बताते हैं कि अभी जो भी 3डी बायोप्रिंटर्स आ रहे हैं वे काफी भारी हैं, कम स्‍पीड में काम करते हैं साथ ही इनकी कीमत भी काफी ज्यादा है, ऐसे में ये नई टेक्निकल डिवाइस इन सभी परेशानियों को दूर करते हुए स्किन हीलिंग प्रक्रिया के काफी मददगार साबित होगी.
यही नहीं शोधकर्ताओं के मुताबिक, भविष्य में इस डिवाइस की मदद से आग से झुलसे लोगों का इलाज करना भी बेहद सुरक्षित और सुविधाजनक हो जाएगा.
कैसा दिखता है बायोप्रिंटर
वैज्ञानिकों द्वारा बनाया गया यह 3डी स्किन प्रिंटर दिखने में टेप डिसपेंसर जैसा है., जिसमें टेप रोल की जगह माइक्रो डिवाइस लगी हुई है जो  टिश्‍यू शीट्स को तैयार करती हैं.
बता दें कि ये डिवाइस छोटे जूते के बॉक्‍स जितने आकार का है और इसका वजन एक किलो से भी कम है. अच्छी बात यह है कि इसे चलाने के लिए किसी खास ट्रेनिंग की जरूरत नही है.
फिलहाल शोधकर्ता इस डिवाइस के जरिए बड़े घावों को भी भरने की जुगत में लगे हुए हैं इसके लिए इस डिवाइस की क्षमता को बढ़ाया जा रहा है.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus