Afshan Ashiq : श्रीनगर में पत्थर फेंकने के नाम से बदनाम थी यह लड़की, आज है फुटबॉल टीम की कप्तान

afshan ashiq
फोटो साभार - एचटी

Afshan Ashiq : अफशां अब अपने अतीत को नहीं करती याद

Afshan Ashiq : कश्मीरी युवती अफशां आशिक जहां एक समय श्रीनगर की गलियों में पुलिस पर पत्थर फेंकने वाली लड़कियों के गुट की अगुवाई करती थीं, आज वही जम्मू-कश्मीर महिला फुटबाल टीम की कप्तान बन गईं हैं.

पत्थर फेंकने वाले छात्रों की इस पोस्टर गर्ल में यह खुशनुमा बदलाव एक तरह से कश्मीरियों के दिलों को जीतने की सरकारी दास्तां भी बयां करता है.
यह भी पढ़ें – Manushi Effect : मानुषी के मिस वर्ल्ड बनने के बाद हरियाणा की खाप ने बदला सदियों पुराना रिवाज
गृहमंत्री से मिल कश्मीर में खेलों पर की चर्चा
TOI के मुताबिक 21 वर्षीय फुटबॉल खिलाड़ी अफशां ने मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर उन्हें राज्य में खिलाड़ियों के सामने आने वाली समस्याओं से अवगत कराया.
इसके साथ ही अपनी मुलाकात में उन्होंने गृहमंत्री को यह भी भरोसा दिलाया कि वह अब वापस मुड़कर अपने अतीत में नहीं देखना चाहतीं. आपको बता दें कि 22 सदस्यीय फुटबाल टीम को लेकर मिलने पहुंची आफशां को गृहमंत्री ने खुद बुलाया था.
आधे घंटे तक चली बैठक में गृहमंत्री से आफशां ने कहा कि अगर जम्मू-कश्मीर में उचित खेल आधारभूत ढांचा तैयार किया जाता है तो वह युवा आतंकवाद और अन्य गैर कानूनी गतिविधियों से इतर अपने कौशल को निखारने के लिए प्रेरित होंगे और राज्य का नाम चमकाएंगे.
टीम की कप्तान अफशां ने बताया कि जब हमने गृहमंत्री से कहा कि जम्मू-कश्मीर में खेल के लिए आधारभूत ढांचे की कमी है तो उन्होंने तुरंत मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से फोन पर बात की और उनसे जरूरी मदद करने का आग्रह किया.
उन्होंने हमें बताया कि प्रधानमंत्री के विशेष पैकेज के तहत राज्य के लिए भारत सरकार की तरफ से पहले ही 100 करोड़ रुपए आवंटित किए जा चुके हैं.
यह भी पढ़ें – Akshaya Shanmugam : नशा छुडाने के लिए देश की इस लड़की ने बनाई डिवाइस, फोर्ब्स की सूची में मिली जगह
अफशां पर जल्द ही बन सकती है फिल्म
सुनने मे आ रहा है कि अफशां की जिंदगी पर जल्द ही फिल्म बनाई जा सकती है. बॉलीवुड के मशहूर फिल्मकार अफशां की कहानी पर फिल्म बनाने की योजना बना रहे हैं.
फिलहाल श्रीनगर की रहने वाली अफशां अभी मुंबई के एक क्लब के लिए खेल रही है. वह मानती हैं कि उनकी जिंदगी और करियर ने जब ‘यू-टर्न’ लिया तब उनकी फोटो पत्थर फेंकने वाली के तौर पर राष्ट्रीय मीडिया में आ गई थी.
उन्होंने कहा कि मेरी जिंदगी हमेशा के लिए बदल गई है और अब मैं विजेता बनना चाहती हूं ताकि राज्य और देश को गौरवान्वित कर सकूं .