भारत के 83 फीसदी कर्मचारी बेहतर सैलरी के लिए बदलते हैं अपनी नौकरी – सर्वे

Indian People Do Less Work In Summer
demo pic

Employee Job Change Report : जानिए नौकरी बदलने वाले लोगों के प्रतिशत

Employee Job Change Report : किसी भी नौकरी में कर्मचारी के काम करने का मूल आधार रहता है वहां मिलने वाली उसकी सैलरी.

अगर कंपनी अपने कर्मचारी को अच्छी सैलरी नहीं दे रही है तो वो उसे छोड़कर हमेशा किसी दूसरी जगह जाने की कशिश में लगा रहेगा,हाल ही में आई रिपोर्ट ने इस बात की पुष्टी भी कर दी है
दरअसल एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि आमूमन 25-34 साल के 83 फीसदी भारतीय नौजवान अपनी नौकरी सिर्फ पैसों की वजह से छोड़ देते हैं.
ग्लोबल जॉब साइट इनडीड द्वारा किए गए सर्वे के मुताबिक देश के 80 फीसद लोगों ने यह बात मानी है कि वो अपनी नौकरी सिर्फ इसलिए बदलते हैं क्योंकी दूसरी जगह उन्हें उससे बेहतर पैकेज मिल रहा होता है.
हालांकि सर्वे में मौजूद कई लोगों का यह भी कहना था कि वो नौकरी छोड़ने के वक्त वेतन बढ़ोत्तरी के बजाए वैकल्पिक लाभ को तरजीह देना चाहेंगे.
वहीं 60 फीसद का मानना था कि वो सैलरी बढ़ने के बजाए कार्यकारी घंटों में उदारता को प्राथमिकता देंगे जबकि 47 फीसदी लोगों ने सालाना छुट्टियों में इजाफे की बात कही है.
यह भी पढ़ें – प्राचीन इमारतों को निजी हाथों में देने की सरकार की नीति सही या गलत ? समझे यहां
इसके अलावा करीब 40 प्रतिशत आबादी का कहना है कि वे पेड पैरेंटल लीव को लाभ के रुप में लेना पसंद करेंगे जबकि 63 प्रतिशत लोगों का कहना था कि वेतनवृद्धि के बजाय वे स्वास्थ्य लाभ में बढ़ोतरी को प्राथमिकता देंगे.
इन सब के बावजूद लगभग 43 फीसदी का दावा था कि उनका मौजूदा वेतन संतोषजनक है.
इंडीड इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर शशि कुमार ने बताया कि ऐसे में जब वेतन में इजाफा पाना कर्मचारियों की वरीयता मे सबसे ऊपर है तो यह संगठनों के लिए अनिवार्य हो जाता है कि कर्मचारियों की मांगे पूरी की जाएं.
गौरतलब है कि भारत जैसे बड़े देश में सबके हितों का ख्याल रखना संभन नहीं है मगर फिर भी कंपनियों को यह सुनिश्चित करना पड़ेगा कि वो अपने कर्मचारियों को उसकी जरूरत और रैंक के हिसाब से सही सैलरी दे रही है या नहीं.

For More Hindi Positive News and Positive News India Follow Us On FacebookTwitter, Instagram, and Google Plus